मुंबई। सलमान ख़ान के साथ एक था टाइगर, बजरंगी भाईजान और ट्यूबलाइट जैसी फ़िल्में बनाने वाले डायरेक्टर कबीर ख़ान की पत्नी मिनी माथुर ने फ़िल्म समीक्षकों को आड़े हाथों लिया है। मिनी के गुस्से की वजह 'ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान' को मिले ख़राब रिव्यूज़ हैं। हालांकि कुछ यूज़र्स ने मिनी को करारा जवाब दे दिया है। वहीं सुनील शेट्टी ने भी फ़िल्म की कटु आलोचना का विरोध किया है।

8 नवंबर को रिलीज़ हुई 'ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान' को भारी ओलचनाओं का सामना करना पड़ा है। आम तौर पर सलमान और शाह रुख़ ख़ान की फ़िल्में लचर कहानी या ट्रीटमेंट की वजह से क्रिटिक्स के निशाने पर आती हैं, जबकि आमिर की फ़िल्मों से क्रिटिक्स को काफ़ी उम्मीदें रहती हैं। मगर, इस बार आमिर की फ़िल्म क्रिटिक्स की कसौटी पर ख़री नहीं उतरी है। अधिकांश क्रिटिक्स ने 'ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान' को अच्छे रिव्यूज़ नहीं दिये हैं। फ़िल्म के तकनीकी और अदाकारी पक्ष की तारीफ़ की गयी है, मगर कहानी पर सवाल उठाए गये हैं। आमिर और अमिताभ के फ़ैंस इस बात से भी आहत हैं कि पहली बार सिनेमा के ये दो दिग्गज पर्दे पर साथ आये, मगर निर्देशक विजय कृष्ण आचार्य इसका फ़ायदा नहीं उठा सके।  

सुनील शेट्टी ने भी 'ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान' को सपोर्ट करते हुए क्रिटिक्स की क्लास लगायी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक बातचीत में सुनील ने कहा- ''कभी-कभी हम लोग एक फ़िल्म से कुछ ज़्यादा ही उम्मीदें पाल लेते हैं और अब हर कोई ख़ुद को क्रिटिक समझने लगा है। उन्हें लगता है कि वो एंटरटेनमेंट के बारे में सब कुछ जानते हैं, लेकिन मुझे लगता है कि हर फ़िल्म को मौक़ा देना चाहिए, ताकि उसे निर्बाध रिलीज़ मिले और फिर दर्शकों पर छोड़ देना चाहिए। हमें इतनी आलोचना नहीं करनी चाहिए कि इसे सिनेमाघरों से उतारना पड़े।''

यह भी पढ़ें: रिकॉर्ड तोड़ ओपनिंग के बाद दूसरे दिन औंधे मुंह गिरी ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान

इससे पहले 'ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान' की चौतरफ़ा मज़म्मत ने मिनी माथुर को नाराज़ कर दिया। मिनी ने ट्वीट करके अपनी राय रखी। उन्होंने लिखा- ''ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान को मिले नेगेटिव रिव्यूज़ से थोड़ा आश्चर्यचकित हूं। मुझे लगा कि यह बेहद मनोरंजक फिल्म है। अमिताभ बच्चन को देखना दिलचस्प है। आमिर ख़ान फिरंगी के किरदार में आग उगल रहे हैं। दिल को लुभाने वाली समंदर की बैकड्रॉप और शानदार जहाज़ हैं। इतना गंभीर क्यों हो रहे हैं, फ़िल्म देखने जाइए।'' 

इसके बाद मिनी ने क्रिटिक्स पर सवाल उठाते हुए लिखा- ''मेरा हर तथाकथित समीक्षक या वो भी जिनका करियर फ़िल्म इंडस्ट्री पर निर्भर है, से एक सवाल है कि आप दर्शकों के देखने और जज करने से पहले ही रिलीज़ के कुछ ही घंटों में किसी फ़िल्म को नीचा दिखाने में क्यों जुट जाते हैं।'' मिनी के इस सवाल का जवाब देते हुए कुछ यूजर्स ने लिखा है कि अगर क्रिटिक्स की रेटिंग्स का फ़िल्म बिज़नेस पर असर पड़ता तो हर क्रिटिकली फ़िल्म कामयाब होती। वहीं, क्रिटिक अपने विचार रखने के लिए स्वतंत्र होता है, फ़िल्म का बिज़नेस देखना उसकी प्राथमिकता नहीं होती। 

यहां बताते चलें कि मिनी के पति कबीर ख़ान को भी उनकी पिछली फ़िल्म 'ट्यूबलाइट' के लिए काफ़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। 'ट्यूबलाइट' में सलमान ख़ान ने लीड रोल निभाया था। इस फ़िल्म को भी क्रिटिक्स ने काफ़ी ख़राब रेटिंग्स दी थीं। 'ट्यूबलाइट' ईद पर रिलीज़ होने के बावजूद बॉक्स ऑफ़िस पर नहीं चली। हालांकि सलमान ख़ान इसे नुक़सान में नहीं मानते। इस फ़िल्म के प्रदर्शन से सिनेमाघर मालिकों को होने वाले नुक़सान की भरपाई बाद में सलमान ख़ान ने की थी। इससे पहले कबीर ने सलमान के साथ दो फ़िल्में 'एक था टाइगर' और 'बजरंगी भाईजान' बनायी थीं, जो बॉक्स ऑफ़िस पर सफल रही थीं। 

यह भी पढ़ें: पहले दिन ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान की कमाई का तूफ़ान, बनाये इतने रिकॉर्ड

उधर, एक्ट्रेस अदिति राव हैदरी ने भी 'ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान' को मिले ख़राब रिव्यूज़ पर हैरानी ज़ाहिर की है। अदिति ने लिखा है-''मुझे तो ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान अच्छी लगी और मुझे समझ नहीं आ रहा कि लोग इसकी इतनी मज़म्मत क्यों कर रहे हैं। एक्शन, एडवेंचर के साथ यह एक मनोरंजक फ़िल्म है। देखने जाइए और ख़ुद तय कीजिए।'' 

यह भी पढे़ं: ठगने में माहिर आमिर ख़ान, ख़ुद पोस्टर चिपकाकर किया था डेब्यू फ़िल्म का प्रमोशन

Posted By: Manoj Vashisth