मुंबई। वह आया और आकर छा गया। आमिर ख़ान की फ़िल्म दंगल के लिए इसके अलावा आप कह ही क्या सकते हैं? लेकिन, भारत फ़िल्मों के दीवानों का भी देश है। इसलिए भी दंगल के शोर में एक और नाम जो देर से ही सही सबकी जुबां पर चढ़ने लगा है तो वो है मराठी फ़िल्म- ती सध्या काय करते।

साल के आख़िरी सप्ताह में जब आमिर ख़ान अपनी धाकड़ लड़कियों के साथ सिनेमा के परदे पर नज़र आये तो उनके आस-पास कोई और नहीं दिखा। उनकी फ़िल्म दंगल रोज़ एक रिकोर्ड तोड़ती रही। उसी दौरान एक मराठी फ़िल्म भी धीरे-धीरे लोगों के दिलों में उतरती गयी और आज ती सध्या काय करते ने साबित कर दिया कि नोटबंदी, दंगल, उसके बाद ओके जानू और कुछेक फ़िल्मों के रिलीज़ होने के बीच भी छोटी बजट की फ़िल्मों के लिए भी मार्केट में काफी जगह है। 'ती सध्या काय करते' की कामयाबी एक मिसाल है और यह कामयाबी कहीं न कहीं रीजनल फ़िल्मों के भविष्य के लिए भी एक उम्मीद जगाती है।

इसे भी पढ़ें: एक महीने तक दुनिया से रहेंगे बेख़बर, आमिर ख़ान नहीं आयेंगे अब किसी को नज़र

साढ़े चार करोड़ की बजट में बनी इस फ़िल्म ने अपनी कुल लागत से तीन गुना ज्यादा की कमाई की है। फ़िल्म ने अब तक 12 करोड़ से ज्यादा की कमाई कर ली है। ज़ाहिर है फ़िल्म के निर्माता-निर्देशक और कलाकारों के लिए यह नए साल का सबसे बेहतरीन गिफ्ट है।

Posted By: Hirendra J