मुंबई। स्वरा भास्कर को बॉलीवुड की एक्टिविस्ट एक्ट्रेस माना जाता है। ज्वलंत मुद्दों पर स्वरा खरा-खरा बोलती हैं, शब्दों को बिल्कुल नहीं चबातीं। इसको लेकर कई बार उन्हें ट्रोलिंग का शिकार होना पड़ता है। मगर, स्वरा अपनी बात कहने में हिचकती नहीं। फिर भी एक चीज़ है, जिससे बेबाक़ स्वरा को भी डर लगता है। इस डर का खुलासा स्वरा ने जागरण डॉट कॉम के शो 'लाइट्स कैमरा एक्शन' में किया है। 

अपनी तरह के इस ख़ास शो में स्वरा ने जागरण डॉट कॉम के एंटरटेनमेंट एडिटर पराग छापेकर से बातचीत में अपनी निजी और प्रोफेशनल ज़िंदगी के कई दिलचस्प राज़ खोले। सोशल मीडिया ट्रोलिंग से संबंधित एक सवाल के जवाब में स्वरा ने कहा कि उन्हें ट्रोलिंग से डर नहीं लगता, मगर कुतर्क पसंद नहीं। सोशल मीडिया पर स्वरा से इंटरेक्शन करने वालों के लिए स्वरा ने कहा कि अगर किसी मुद्दे पर तर्कों के साथ कोई बात करता है तो उन्हें दिक्कत नहीं।

स्वरा की पिछली फ़िल्म 'वीरे दी वेडिंग' बॉक्स ऑफ़िस पर सुपरहिट रही है। इस फ़िल्म में स्वरा ने एलीट क्लास की लड़की का रोल निभाया था, जो बातों और अंदाज़ से बिंदास है। इस तरह के किरदार में स्वरा पहली बार नज़र आयीं। 'माधोलाल कीप वॉकिंग' से लेकर 'रांझणा' और 'निल बटे सन्नाटा' तक स्वरा ने मध्यम या निम्न मध्यम वर्ग का प्रतिनिधित्व पर्दे पर किया है। 

जब स्वरा से इस बारे में बात की गयी तो उन्होंने बताया कि वीरे दी वेडिंग के इस किरदार को रचने और गढ़ने के समय निर्देशक शशांक घोष को उन्होंने भी अपने इनपुट दिये थे। पूरी बातचीत दर्शक स्वरा भास्कर स्पेशल एपिसोड में देख सकते हैं, जो शनिवार (7 जुलाई) से जागरण डॉट कॉम पर उपलब्ध रहेगा। फिलहाल शो की झलक आप नीचे देख सकते हैं। 

Posted By: Manoj Vashisth