रुपेशकुमार गुप्ता, मुंबई। प्रसिद्ध गायक सोनू निगम कुछ महीनों पहले अपने एक ट्विट को लेकर काफी विवादों में रहे थे जिसमें उन्होंने सुबह-सुबह लाउडस्पीकर पर अज़ान होने से आपत्ति जताई थी। हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान मुंबई में सोनू से गणेश चतुर्थी के मौके पर लगने वाले लाउडस्पीकर के बारे में सवाल किया गया जिस पर सोनू की थी एेसी राय। 

सोनू ने कहा कि अभी वह इस कार्यक्रम में शामिल होने आए हैं न कि उस विषय पर बात करने के लिए। सोनू निगम ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि वह सीधे अमेरिका से इस कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे हैं, जिससे उनकी पीठ में बहुत दर्द हो रहा है और उनसे खड़ा भी नहीं हुआ जा रहा है। सोनू निगम कहते हैं, 'मेरी पीठ के निचली भाग में बहुत दर्द हो रहा है। मेरे ट्रेनर इरफ़ान से मैनें आधे घंटे स्ट्रेचिंग करवाई है, जिसके बाद मैं खड़ा हो पाया हूं और आप लोगों से मिलने आ पाया हूं।' सोनू के जवाब से एक बात तो साफ होती है कि, हालांकि उन्होंने मुस्लिम शब्द का प्रयोग नहीं किया था लेकिन उन्होंने इरफ़ान का नाम लेकर यह साबित कर दिया कि वह हिंदू और मुस्लिम में भेदभाव नहीं करते। बता दें कि सोनू निगम संगीतकार आनंद-मिलिंद के संगीत अकादमी की शुरुआत के मौके पर आये थे।

यह भी पढ़ें: सिंघम का बेटा मॉम काजोल का हाथ थामे दिया दिखाई, देखें तस्वीरें

गौरतलब है कि कुछ महीनों पहले सोनू निगम ने सुबह लाउडस्पीकर से होने वाली अज़ान पर आपत्ति जताई थी और उन्होंने कहा था कि उन्हें अज़ान से नहीं लाउडस्पीकर को लेकर आपत्ति है। उस समय काफी विवाद हुआ था और यहां तक की सोनू के खिलाफ फतवा भी जारी कर दिया गया था। 

Posted By: Rahul soni