अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। सान्या मल्होत्रा ने दंगल फिल्म से अपनी बड़ी पहचान बना ली है। वह कहती हैं कि उनकी ज़िंदगी में दंगल फिल्म ने एक बड़ा बदलाव लाया। विशाल भारद्वाज के गाने सुन कर वह बड़ी हुई हैं और दंगल की वजह से ही उनका यह सपना पूरा हो पाया कि वह विशाल की फिल्म पटाखा का हिस्सा बनी हैं।

सान्या से जब इस दौरान हमने जानने की कोशिश की कि क्या निजी जीवन में भी, उनकी बहन से उनका बड़की- छुटकी जैसा रिश्ता रहा है? (पटाखा में बड़की-छुटकी झगड़ालू हैं) सान्या बताती हैं कि जी हां, बिल्कुल था। आप लोग जो प्रोमो में बड़की- छुटकी वाला जो रिश्ता देख रहे हैं, अपनी बहन शगुन के साथ निजी जिंदगी में मेरा वैसा ही रिश्ता था। मेरी बहन ने न जाने कितने चश्मे तोड़े होंगे। उसे गुस्सा आता था तो वो चीज़ें तोड़ती थी और मैं बोलती थी। सान्या ने आगे बताया कि हमारी सबसे ज़्यादा कपड़ों को लेकर लड़ाइयां होती थी।अलमारी कपड़ों से भरी रहती थी लेकिन हमें एक ही कपड़ा कई बार पहनना होता था और हमारी लड़ाई शुरू हो जाती थी। किसी ने कोई गिफ्ट्स हमें दिया तो भी लड़ाई शुरू कि ये मुझे चाहिए वो तू ले।

लेकिन सान्या आगे इमोशनल होकर बताती हैं कि जब से वह मुंबई आई हैं, सबकुछ बदल गया है। अब उनके बीच सब कुछ पहले जैसा नहीं है। अब अपनी बहन से उनके रिश्ते अच्छे हो गए हैं और अब दोनों लड़ते भी नहीं हैं। वह कहती हैं कि चार साल से में मुंबई में हूं ।इस दूरी ने ही हमें एक दूसरे के करीब ला दिया। मुम्बई आकर जो धक्के खाए उसने मेरे गुस्से को भी शांत कर दिया। अब हम दोनों नहीं लड़ते और। न हीं सामान को लेकर भी हमारे बीच कुछ भी बातें होती हैं। अब हमलोग शायद मैच्योर हो चुके हैं। उनकी बहन मार्केटिंग और सेल्स की फिल्ड में काम करती हैं। विशाल की फिल्म पटाखा 28 सितम्बर को रिलीज़ होगी।

यह भी पढ़ें: Box Office: स्त्री को हुआ इतना मुनाफ़ा, पढ़िये पाई-पाई का हिसाब

Posted By: Manoj Khadilkar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस