नई दिल्ली, मनोज वशिष्ठ। दबंग सलमान ख़ान के लिए करियर की अहम फ्रेंचाइजी है और इंस्पेक्टर चुलबुल पांडेय उनके सबसे यादगार किरदारों में शामिल है। दबंग फ्रेंचाइजी की लोकप्रियता को देख निर्माता अरबाज़ ख़ान ने इसे बच्चों के लिए एनीमेशन सीरीज़ का रूप दिया है, जो डिज़्नी प्लस हॉटस्टार पर स्ट्रीम की जा रही है। सलमान और अरबाज़ ने इस सीरीज़ से जुड़ने की वजह का खुलासा जागरण डॉट कॉम से किया।

बच्चों के बीच दबंग सीरीज़ की प्रासंगिकता के बारे में पूछने पर सलमान ने कहा कि दबंग के कॉन्सेप्ट को देखें तो चुलबुल एक ऐसा पुलिस इंस्पेक्टर है, जिस पर शहर को सुरक्षित रखने की ज़िम्मेदारी है, और जब दबंग रिलीज़ हुई थी तो इसे बड़ों के मुक़ाबले बच्चों ने अधिक पसंद किया था। इसलिए यह एनीमेशन फॉर्मेट में बच्चों के लिए बिल्कुल फिट है। एक अन्य सवाल के जवाब में सलमान ने कहा कि एनीमेशन सीरीज़ में चुलबुल पांडेय को सुपरहीरो की तरह नहीं दिखाया गया है, लेकिन दर्शकों के प्यार ने उसे सुपरहीरो जैसा बना दिया है।  

दबंग सीरीज़ की शुरुआत 2010 में अभिनव कश्यप निर्देशित दबंग से हुई थी। इस फ़िल्म में एक रंगीन मिज़ाज, तेज़-तर्रार और तीख़े तेवरों वाले पुलिस इंस्पेक्टर चुलबुल पांडेय के रोल में सलमान को काफ़ी पसंद किया गया था। इसके बाद दबंग फ्रेंचाइजी की दो और फ़िल्में दबंग 2 और दबंग 3 क्रमश: 2012 और 2019 में रिलीज़ हुईं।

दबंग 2 को अरबाज़ ख़ान ने निर्देशित किया था, जबकि दबंग 3 के निर्देशन की कमान प्रभुदेवा को सौंपी गया थी, जिन्होंने सलमान की पिछली फ़िल्म राधे- योर मोस्ट वॉन्टेड भाई को निर्देशित किया। दबंग फ्रेंचाइजी की चौथी किस्त के बारे में पूछने पर सलमान ने कहा कि फ़िलहाल हम दबंग एनीमेटेड सीरीज़ को लेकर काफ़ी एक्साइटेड हैं और इसकी लॉन्चिंग के बारे में ही सोच रहे हैं। 

वहीं, अरबाज़ ने दबंग सीरीज़ के एनीमेटेड वर्ज़न को लेकर बताया कि उन्होंने कॉसमॉस माया स्टूडियो के साथ मिलकर इस सीरीज़ का निर्माण किया है। अरबाज़ इस सीरीज़ के प्री और पोस्ट प्रोडक्शन से सक्रिय रूप से जुड़े रहे हैं। एनीमेशन सीरीज़ में गानों को लेकर अरबाज़ ने कहा कि सीरीज़ में गाने नहीं रखे गये हैं। सीरीज़ के कॉन्सेप्ट और कैरेक्टर्स में ज़्यादा बदलाव नहीं किये गये हैं, लेकिन बच्चों को ध्यान में रखते हुए इसकी कॉमेडी और एक्शन को डिज़ाइन किया गया है।

Edited By: Manoj Vashisth