मुंबई। सलमान ख़ान के बहनोई आयुष शर्मा की डेब्यू फ़िल्म 'लवरात्रि' का नाम बदल दिया गया है। शीर्षक को लेकर विवाद होने की आशंका से यह फ़ैसला किया गया है। सलमान ने नाम बदलने की सूचना ट्विटर के ज़रिए साझा की है।

दरअसल, 'लवरात्रि' शीर्षक को लेकर कुछ लोगों ने एतराज़ जताया था। फ़िल्म की कहानी में नवरात्र का त्यौहार अहम रोल अदा करता है। मुख्य पात्रों की पहली मुलाक़ात इसी त्यौहार के दौरान डांडिया खेलते हुए होती है और यहीं से मोहब्बत का सफ़र शुरू होता है। मई के महीने में एक संगठन ने इसको लेकर एक चेतावनी जारी की थी कि अगर फ़िल्म का नाम यही रहता है तो इसकी स्क्रीनिंग नहीं होने देंगे, क्योंकि इससे हिंदू फेस्टिवल का नाम ख़राब होता है। इसके अलावा फ़िल्म की रिलीज़ बैन करने को लेकर शुक्रवार को एक संगठन ने गुजरात हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। दावा किया गया कि इससे एक बड़े वर्ग की धार्मिक भावनाएं आहत होंगी। देश के कुछ और हिस्सों से विरोध की आवाज़े उठने लगी थीं।

रिपोर्ट्स के अनुसार, मुज़फ़्फ़रपुर कोर्ट ने सलमान ख़ान और फ़िल्म के कलाकारों के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज़ करने का आदेश भी दिया था। माना जा रहा है कि मेकर्स ने विवादों से बचने के लिए फ़िल्म का टाइटल 'लव रात्रि' से 'लवयात्री' कर दिया है। सलमान ने मंगलवार रात को इसकी जानकारी देते हुए ट्विटर पर नया पोस्टर शेयर किया और लिखा- यह स्पेलिंग की भूल नहीं है। 

'बिग बॉस 12' लांच के दौरान सलमान से इस बारे में जब पूछा गया था तो उन्होंने कहा था कि कुछ लोगों को टाइटल से कुछ समस्या है। यह एक ख़ूबसूरत टाइटल है। प्यार से अधिक ख़ूबसूरत और कुछ नहीं होता, इसीलिए इसका नाम लवरात्रि है। यह किसी संस्कृति को कमतर करने के लिए नहीं है। हमारे प्रधानमंत्री उस कल्चर से आते हैं। इसलिए जब आप एक किरदार प्ले करते हैं, जैसे कि मैंने एक सरदार का रोल प्ले किया था या सुल्तान में हरियाणवी बना था, मैं बहुत सम्मान के साथ निभाता हूं। हमने नवरात्रि की पृष्ठभूमि पर फ़िल्म बनायी है। हमने संगीत, रंगों और प्यार और फेस्टिव सीज़न को सेलीब्रेट करने के लिए यह ख़ूबसूरत फ़िल्म बनायी है। हमें इस तरह की पब्लिसिटी की ज़रूरत नहीं है। एक बार जब फ़िल्म रिलीज़ हो जाएगी तो लोगों को पता चलेगा कि इसमें ऐसा कुछ नहीं है।

सलमान ने आगे कहा कि उन्हें पक्का यक़ीन है, सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ फ़िल्म सर्टिफिकेशन ने फ़िल्म को यू सर्टिफिकेट के साथ पास कर देगा। सेंसर बोर्ड इसके बारे में फ़ैसला करने के लिए सही बॉडी है। मुझे यक़ीन है कि वो इसे यू सर्टिफिकेट देंगे। और अगर सेंसर बोर्ड ने सर्टिफिकेट दे दिया तो मुझे नहीं लगता कि किसी को कुछ कहना चाहिए। पर अब ऐसा लगता है कि ग़ैरज़रूरी विवादों से बचने के लिए टीम ने सेफ़ गेम खेलना बेहतर समझा। 

5 अक्टूबर को रिलीज़ हो रही 'लवयात्री' की बैकग्राउंड गुजरात में सेट है। इसे डेब्यूटेंट अभिराज मीनावाला ने डायरेक्ट किया है, जबकि सलमान ख़ान ने फ़िल्म प्रो़ड्यूस की है। आयुष के साथ वरीना हुसैन बॉलीवुड में डेब्यू कर रही हैं। 

Posted By: Manoj Vashisth

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस