शिखा धारीवाल, मुंबई जेएनएन। ऋचा चड्ढा ने फिल्म इंडस्ट्री में अपने दमदार अभिनय से एक अलग पहचान बनाई है। ऋचा फिल्मों में शानदार अभिनय और दमदार किरदार निभाने के साथ- साथ अपनी बेबाकी के लिए भी मशहूर है। ऋचा अक्सर समाजिक मुद्दों पर भी अपनी राय सोशल मीडिया में खुलकर रखती हैं। कई बार ऋचा की बेबाकी की वजह से उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग का शिकार भी होना पड़ा है। हाल ही में ऋचा चड्ढा ने Audible की पॉडकास्ट सीरीज 'बेबी डॉल' (Baby Doll) के प्रोमोशन के दौरान Jagran.Com से एक्सक्लूसिव बात की। इस दौरान उन्होंने 'बेबी डॉल' सीरीज के साथ-साथ सोशल मीडिया और ट्रोलिंग पर भी खुलकर बातचीत की।

ऋचा कहती हैं कि "मुझे कहानियां बचपन से ही बहुत आकर्षित करती हैं। मेरे घर में आपको ढेर सारी किताबें मिलेंगी क्योकि मुझे पढ़ने का बहुत शौक है। जब मैं गाड़ी में शूट के लिए कई घंटे का सफर करती हूं, तब मेरा किताब पढ़ने का मन होता है, लेकिन मैं पढ़ नहीं पाती क्योकि मुझे गाड़ी में पढ़ने से सिर दर्द होने लगता है। ऐसे में पॉडकास्ट बेहतरीन ऑप्शन है कहानियां सुनने का। इसलिए मुझे audible प्लैटफॉर्म बहुत इंटरेस्टिंग लगा और 'बेबी डॉल' से एसोसिएशन हुई ..."

पॉडकास्ट के अलावा आने वाले प्रोजेक्ट्स के सवाल पर ऋचा कहती हैं कि "हां 'फुकरे 3' की शूटिंग खत्म हो चुकी है। वह भी जल्द रिलीज होगी और उसके अलावा मैंने व अली ने मिलकर प्रोडक्शन हाउस खोला है। जिसका जिम्मा मैंने उठाया हुआ है। उसमें कई प्रोजेक्ट्स हैं, इसके साथ- साथ और भी फिल्में हैं, जो मैं कर रही हूं। कुल मिलाकर मेरे पास बहुत काम है और मैं बहुत खुश हूं।"

सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग होने पर बुरा लगता है या कैसे रिएक्ट करती हैं? इस सवाल पर ऋचा अपनी बात रखते हुए कहती हैं कि "आप किनकी बात कर रही है। सोशल मीडिया पर वो लोग ट्रोल आर्मी का हिस्सा हैं जिनके पास कुछ काम नहीं है और ये ट्रोल आर्मी के लोग 2- 2 रुपये में ट्वीट करते हैं और आजकल तो रिसेशन चल रहा है तो ये लोग अठन्नी चवन्नी पर आ गए हैं। अब ऐसे लोगों की बातों का भला कोई कहा बुरा मानता है।"

Edited By: Vaishali Chandra