मुंबई। अभिनेत्री ऋचा चड्ढा का गुस्सा भी अब 'ऐ दिल है मुश्किल' जैसी बॉलीवुड फिल्मों का विरोध करने वालों पर फूट पड़ा है। ऋचा ने सवाल पूछा है कि क्या विरोध करने वालों का अपनी सरकार से विश्वास उठ गया है ?

ऋचा गुरूवार से मुंबई में शुरू हुए मामी फिल्म फेस्टिवल की ओपेनिंग सेरेमनी में आई थीं। करण जौहर की फिल्म सहित पाकिस्तानी कलाकारों वाली फिल्मों के बैन पर ऋचा ने कहा "अगर एक फिल्म की रिलीज रोकने से आतंकवाद खत्म हो जाता तो अब तक हम बहुत सारी फिल्में बैन कर चुके होते।यहां आतंकवाद समस्या है और उससे निबटने की जरूरत है।" ऋचा ने पूछा " अगर हम एक फिल्म की रिलीज से इतना घबरा गए हैं तो क्या हम ये कह रहे हैं कि हमें अपने सरकार में विश्वास नहीं है ? क्या हमारी सरकार इस मुद्दे को हैंडल करने के काबिल नहीं? और अगर फ़िल्में बैन होंगी तो क्या इससे हमारी इकोनॉमी को नुकसान नहीं होगा ?

'ऐ दिल...' विरोध : सेंसर चीफ ने खोला बॉलीवुड संगठनों और एमएनएस के ख़िलाफ मोर्चा !

ऋचा के मुताबिक अगर हम अपनी फिल्मों पर सवाल उठाते हैं तो क्या हम अपनी सरकार पर भी सवाल उठाने की स्थिति में हैं, क्योंकि सरकार तो सक्षम है। सर्जिकल स्ट्राइक कर ये बता दिया कि वो हर तरह से सक्षम है तो ऐसे में फिल्मों को निशाना बनाने की जरुरत क्या है ?

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस