मुंबई। रणवीर सिंह और अर्जुन कपूर ने तीन साल पहले अश्लीलता फैलाने के आरोप में उनके ख़िलाफ़ दर्ज़ की गई एफआईआर को रद्द करवाने के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

दरअसल रणवीर और अर्जुन सहित कई सितारों में साल 2014 में हुए ए आई बी नॉक आउट के एक शो में हिस्सा लिया था। आरोप लगा कि इस शो के जरिये बेहद फूहड़ता और अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया। इस मामले में साल 2015 में मुंबई और पुणे में दोनों के ख़िलाफ़ एफ आई आर दर्ज़ करवाई गई। दोनों सितारों की तरफ़ से अदालत को दी गई अर्जी में कहा गया है कि उनके ख़िलाफ़ दर्ज़ की गई एफ आई आर और शिकायत पूर्णतः बेबुनियाद और गलत मंशा से दर्ज़ करवाई गई है और ये अभिव्यक्ति की आज़ादी का उल्लंघन है। सामाजिक कार्यकर्ता संतोष दौंडकर ने पुलिस में ये मामला दर्ज़ करवाया था। अर्जी में कहा गया है कि जो भी प्रमाण प्रस्तुत किये गए हैं वो किसी ‘गंदे’ विचारों को प्रदर्शित नहीं करते। सिर्फ़ शब्दों का इस्तेमाल किसी तरह की अश्लीलता को परिभाषित नहीं करता। बता दें कि शो में भाग लेने वालों के ख़िलाफ़ मुंबई के ताडदेव और पुणे के बंड गार्डन पुलिस स्टेशन में एफ आई आर की गई थी । उसी साल अभिनेत्री दीपिका पादुकोण, इस शो के आयोजक तन्मय भट्ट, गुरुसिमरन खम्बा, आशीष शाक्य और रोहन जोशी के ख़िलाफ़ भी एफ आई आर हुई थी। सभी हाईकोर्ट गए और अदालत ने पुलिस को आदेश दिया था कि वो इस मामले में किसी तरह का एक्शन न ले लेकिन अपनी जांच जारी रखे।

यह भी पढ़ें: बैन का बदला बैन, फिर उठी पाकिस्तानी कलाकारों पर प्रतिबंध की मांग

Posted By: Manoj Khadilkar