अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। राम कपूर टेलीविजन के सबसे चर्चित नामों में से एक हैं। उन्होंने इंडस्ट्री में एक लंबा सफर तय किया है। ऐसे में वह पहली बार डिस्कवरी जीत के शो कॉमेडी हाई स्कूल में कॉमेडी करते नज़र आ रहे हैं।उन्हें एक्टिंग में पहला मौक़ा कभी एकता कपूर ने दिया था। एकता के शो घर एक मंदिर के बाद कसम से, फिर बड़े अच्छे लगते हैं से उन्होंने अपनी पहचान हासिल की और अब वह उनके साथ ही काम करते रहना चाहते हैं।

ऐसे में क्या उन्हें कभी एकता ने कॉमेडी करने के लिए ऑफ़र दिया था। इस पर राम कपूर ने जागरण डॉट कॉम से बातचीत में स्वीकारा है कि एकता ने कभी भी उन्हें कॉमेडी करने के लिए ऑफ़र नहीं दिया था। राम कहते हैं कि मुझे एकता रोमांटिक किरदारों में ही पसंद करती हैं। वह मुझे काफी लंबे समय से जानती हैं और वह यह बात जानती हैं कि मैं रोमांटिक किरदार कर सकता हूं। राम कहते हैं कि हम दोनों ने एक साथ काफी अच्छा सक्सेस देखा है। हम हमेशा अच्छे शोज साथ करते रहे हैं। इसलिए एकता नहीं चाहतीं कि कभी भी वह मेरा काम किसी और तरह के जोनर से मेस करें। इसलिए वह मेरे साथ किसी भी तरह से एक्सपेरिमेंटल नहीं करना चाहती हैं और मुझे भी इस बात से कोई परेशानी नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: अमिताभ बच्चन ने रुपहले परदे पर पहली बार बोला था ये संवाद, बिहार-रांची से था ये खास कनेक्शन

राम बताते हैं कि एकता रियल लाइफ में काफी हंसमुख हैं। लेकिन काम के वक़्त वह काफी पैशिनेट रहती हैं। राम कहते हैं कि ऐसा नहीं है कि मेरे और एकता के कभी झगड़े नहीं हुए हैं। हम लोग काफी लड़ते हैं। हम दोनों को पता है कि हमलोग ईगो के कारण नहीं लड़ रहे, बल्कि क्रेयेतिव लड़ रहे. हम दोनों बाद में फिर बात भी करने लगते हैं। हम दोनों ही एक दूसरे को काफी रेस्पेक्ट करते हैं। 

यह भी पढ़ें: Padman को पाकिस्तान में प्रतिबंधित करना इंसानियत के विरुद्ध है - आर. बाल्की

राम बताते हैं कि कभी कभी ऐसा होता है कि सीन का उसका अप्रोच अलग होता हो और कभी मैंने उस सीन को अलग अप्रोच से किया हो। कभी-कभी वह सही होती है और कभी मैं होता हूं। कई बार वह कहती हैं कि तुम सही हो। राम कहते हैं कि मैं ऐसा एक्टर नहीं हूं कि जो मुझे कहा जाये मैं कर लूंगा, मैं अगर मानता नहीं हूं। किरदार को लेकर बिलीव नहीं कर पाता हूं तो मैं लड़ता हूं। इसमें कोई बुराई भी नहीं है। 

Posted By: Rahul soni