मुंबई। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी फिल्म Pm Narendra Modi पीएम नरेंद्र मोदी में पूरानी फिल्म के गीत को रीक्रिएट कर शामिल किया गया है जिसके लिए पोस्टर पर प्रसिद्ध गीतकार जावेद अख्तर को क्रेडिट देते हुए नाम जोड़ा गया। लेकिन जावेद अख्तर ने इसको लेकर ट्विट के जरिए आपत्ती जताई थी। जिसका जवाब को-प्रोड्यूसर संदीप एस सिंह ने भी ट्विट के जरिए दिया था। लेकिन जावेद अख्तर संतुष्ट नहीं थे। इसको लेकर जागरण डॉट कॉम ने संदीप एस सिंह से खास बातचीत की।  

संदीप एस सिंह का कहना है कि, 'जावेद अख्तर साहब बहुत सीनियर और लेजेंड्री राइटर हैं। उनके गीतों को हमारे कानों ने सुना है और सराहा है। हम यही चाहते हैं कि जब तक वे हैं तब तक उनका हर गीत मेरी फिल्म में हो। लेकिन पता नहीं क्या प्रॉब्लम हुई है। कंपनी है टी सीरिज जिससे मैंने आग्रह किया था कि 1947 अर्थ नामक फिल्म से गीत ईश्वर अल्लाह गाना लेना चाहते हैं तो उन्होंने खुश होकर हां कहा था। गाने को रीक्रिएट किया गया।तो जावेद साहब ने हमसे पर्सनली कम्युनिकेट नहीं किया और हमने भी पर्सनली उनसे कम्युनिकेट नहीं किया। वे बहुत बड़े हैं और समझदार हैं। उन्होंने ट्विटर के जरिए अपनी बात रखी। वे वैसे सबको जानते हैं, मैं, भूषण या विवेक। अगर वे एक फोन करते तो हम खुद उनके पास तुरंत पहुंच जाते। लेकिन उन्होंने ट्विटर का जरिया सही समझा। कुछ सोचकर ही किया होगा और उनके हर निर्णय को मैं सही मानता हूं।'

बता दें कि संदीप सिंह ने इसी फिल्म में गीतकार के रूप में जावेद अख्तर का नाम जोड़ा था। बाद में जावेद ने इस बात को पूरी तरह से स्पष्ट कर दिया कि वह इस फिल्म के लिए कोई भी गाना नहीं लिख रहे हैं। इस बात से किसी भी तरह की सच्चाई नहीं है। उन्हें इस बात से नाराजगी भी है जाहिर की उनकी अनुमति के बगैर फिल्म के पोस्टर में उनके नाम का इस्तेमाल क्यों किया गया है। बाद में इस बात को लेकर शबाना ने भी ट्विट कर दिया है कि यह सबकुछ जानबूझ कर किया गया है और मेकर्स का इरादा नहीं इसे लेकर सही नहीं है। लेकिन निर्माता संदीप सिंह ने इस बारे में स्पष्टीकरण दिया था। उन्होंने लिखा था, 'हमने 1947 अर्थ नामक फिल्म से ईश्वर अल्लाह और फिल्म दस से सुनो गौर से दुनिया वालो नामक गाने लिए हैं। जिसके चलते हमने जावेद अख्तर और समीर जी को उन के गानों के लिए क्रेडिट दिया है। यह सब बात ट्विटर के जरिए कही गई थी। 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rahul soni