अनुप्रिया वर्मा, मुंबई. पहलाज निहलानी एक बार फिर से अपनी नयी फिल्म लेकर आये हैं. फिल्म रंगीला राजा जल्द ही रिलीज़ होने वाली है. पहलाज निहलानी की फिल्में गोविंदा ने पहले भी की हैं और वह कामयाब रही हैं. ऐसे में एक बार फिर से ये जोड़ी लौट रही है.

पहलाज कहते हैं कि जब 1986 में गोविंदा आये, तो गोविंदा ने एक्टिंग से लेकर अपनी डांसिंग तक में छाप छोड़ी. गोविंदा अपनी फिल्म में डूब जाता है. पहलाज कहते हैं कि मैंने मिथुन को रिप्लेस किया था गोविंदा से. तो उस वक़्त मैंने जो कहानी मिथुन के लिए लिखी थी, जब गोविंदा आये तो मैंने पूरी कहानी बदल दी थी. फिल्म थी रामपुरी. तो मैंने किरदार को डांसिंग स्टार बना दिया.

पहलाज कहते हैं कि उस दौर में लोग माइकल जैक्सन को पसंद करते थे, तो लोगों को लगा कि इंडिया का माइकल आ गया है. उस वक़्त आई एम अ स्ट्रीट डांसर गाना खूब चला. लोगों ने पसंद किया और उसी दौर में उसे नाम मिला गरीबों का मिथुन चक्रवर्ती. जैसे जब मिथुन आये थे तो लोगों ने उसे गरीबों का अमिताभ बच्चन कहा था. आँखें के बाद गोविंदा ने रूल किया. जब तक वह राजनीति में नहीं गया 14 साल उसने शानदार काम किया. हम दोनों की जोड़ी का जादू चलता रहा.

पहलाज बताते हैं कि शत्रुघ्न सिन्हा और मेरी अच्छी दोस्ती थी. शत्रु आते थे, चूंकि शत्रुघ्न सिन्हा के पास समय नहीं होता था, वह कई फिल्मों की शूटिंग करते थे. मुझे मिथुन में कह दिया कि हमारी टाइमिंग नहीं जम रही है, तो ऐसा है कि तुम मेरे साथ सोलो फिल्म बना लो. अपने दोस्त के साथ सोलो फिल्म बना लो. पहलाज कहते हैं कि मिथुन का जो बात करने का तरीका था. वह मुझे बुरा लगा था. चूंकि मैं मिथुन को तब से जानता था, जबसे वह फिल्मों में आया भी नहीं था. तो उसका ये बोलना ख़राब लगा था मुझे . उस दिन गोविंदा आये थे मेरे घर तो मैंने तय किया कि इसको फिल्म में रखेंगे .और इसके बाद गोविंदा के साथ अच्छी जोड़ी बनी.

यह भी पढ़ें: देवसेना धमाका: बाहुबली प्रभास से शादी को लेकर फिर बोल पड़ी अनुष्का शेट्टी

Posted By: Manoj Khadilkar