नई दिल्ली, जेएनएन। Oscar Award: ऑस्कर अवॉर्ड 2023 नॉमिनेशन हो चुका है। इस नॉमिनेशन में फिल्म आरआरआर के गीत 'नाटू-नाटू' को बेस्ट ओरिजनल सॉन्ग के लिए शामिल किया गया है जो भारत के इतिहास में गौरवान्वित करने वाला पल है। ऐसा पहली बार है जब किसी भारतीय फिल्म के गीत को बेस्ट ओरिजनल सॉन्ग के लिए नॉमिनेशन मिला है। ऑस्कर अवॉर्ड में भारत की ओर से हर साल कई फिल्में भेजी जाती हैं, लेकिन ऑस्कर जीतना तो दूर ऑस्कर नॉमिनेशन में भी जगह बनाना फिल्मों का नाम इतिहास में दर्ज करवाने जैसा माना जाता है।

भारत की ओर से इस बार एकेडमी अवॉर्ड के लिए 4 फिल्में भेजी गई थीं। जिनमें से सिर्फ 'छेल्लो शो' फिल्म भारत की ओर से ऑफिशियली भेजी गई थी इसके अलावा राजामौली की आरआरआर, शॉनक सेन की डॉक्युमेंट्री फीचर फिल्म ऑल दैट ब्रीथ्स और गुनीत मोंगी की द एलिफेंट विस्पर्स भी भारत की ओर से भेजी जाने वाली फिल्में हैं।

दिलचस्प बात ये है कि छेल्लो शो को छोड़कर इन तीनों फिल्मों ने ऑस्कर की फाइनल लिस्ट तक अपनी जगह बना ली है। तो चलिए आज जानते हैं कि अबतक किन भारतीय फिल्मों ने ऑस्कर नॉमिनेशन में जगह बनाई है और किन हस्तियों को अपनी कला के लिए ऑस्कर अवॉर्ड पाने का सम्मान मिला है।

अब तक इन भारतीय फिल्मों को मिला ऑस्कर नॉमिनेशन

हर वर्ष भारत की ओर से ऑस्कर नॉमिनेशन के लिए फिल्में भेजी जाती हैं, लेकिन अब तक किसी भी भारतीय फिल्म ने ऑस्कर अवॉर्ड नहीं जीता है। ऑस्कर अवॉर्ड नॉमिनेशन में अब तक 1958 में बनी 'मदर इंडिया', 1989 में आई 'सलाम बॉम्बे' और 2002 में आई फिल्म 'लगान' ही बेस्ट फॉरेन लैंग्वेज फिल्म के लिए नॉमिनेट हुई हैं। वहीं, अवॉर्ड की बात करें तो अब तक किसी भी भारतीय फिल्म को ऑस्कर अवॉर्ड नहीं मिला है।

इन भारतीय सेलिब्रिटी को मिला ऑस्कर अवॉर्ड

भारत से अब तक 5 ही कलाकारों को ऑस्कर अवॉर्ड मिला है। जिसमें फिल्म गांधी की कॉस्ट्यूम डिजाइनिंग के लिए 1983 में कॉस्ट्यूम डिजाइनर भानू अथैया और फॉरेन बेस्ड फिल्म 'स्लमडॉग मिलेनियर' के गीत जय हो को बेस्ट ओरिजनल सॉन्ग के लिए ऑस्कर अवॉर्ड मिला था। इस सॉन्ग के लिए गुलजार को बेस्ट लिरिक्स, ए.आर. रहमान को बेस्ट म्यूजिक, रेसुल पुकुट्टी को बेस्ट साउंड मिक्सिंग के लिए ऑस्कर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था, लेकिन आपको बता दें कि फिल्म स्लमडॉग मिलेनियर एक ब्रिटिश फिल्म थी। वहीं, आपको जानकर हैरानी होगी कि भारतीय सिनेमा के डायरेक्शन के इतिहास में बेहतरीन अक्षरों में अपना नाम दर्ज करवाने वाले बंगाली डायरेक्टर सत्यजीत रे अब तक के इतिहास में ऐसे पहले भारतीय रहे हैं, जिन्हें फिल्मों में उनके बेहतरीन योगदान के लिए लाइफटाइम ऑस्कर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था।

'नाटू-नाटू' नॉमिनेशन तक पहुंचने वाला पहली भारतीय फिल्म का गाना

फिल्म 'आरआरआर' का गीत 'नाटू-नाटू' भारतीय इतिहास में यह पहला भारतीय फिल्म का गीत है, जो ऑस्कर नॉमिनेशन तक पहुंचा है। इस गीत को बेस्ट ओरिजनल सॉन्ग के लिए ऑस्कर नॉमिनेशन मिला है। रिपोर्ट्स की माने तो नाटू-नाटू ने लेडी गागा और री-री के गानों को पछाड़कर ऑस्कर नॉमिनेशन में अपनी जगह बनाई है। इस गाने का क्रिएशन एम एम कीरावनी ने किया था। साथ ही काल भैरव और राहुल सिप्लिगुंज ने इस गाने को लिखा है।

नाटू-नाटू के लिए तीसरी अंतरराष्ट्रीय मान्यता

'नाटू-नाटू' ऑस्कर के नॉमिनेशन में शामिल होने के अलावा गोल्डन ग्लोब और क्रिटिक्स च्वाइस अवॉर्ड जीतकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कर चुका है।

यह भी पढ़ें: Pathaan: पठान की स्क्रीनिंग पर खूब हुआ धमाल, वैभवी मर्चेंट ने किया डांस, दीपिका-शाहरुख....

यह भी पढ़ें: Pathaan: 'पठान' देखने पहुंचे 'रईस' के डायरेक्टर ने बताया थिएटर का हाल, कहा- शाह रुख के फैंस ने हाउसफुल किया शो

Edited By: Priyanka Joshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट