मुंबई। हिंदी और मराठी नाटकों के दिग्गज कलाकार अजय वाधवकर का शुक्रवार को पुणे में निधन हो गया। वो लंबे समय से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे। वाधवकर को दूरदर्शन पर आने वाले नाटक 'नुक्कड़' में गणपत हवलदार के किरदार के लिए जाना जाता था।

'बाजीराव मस्तानी' के सेट पर रणवीर को लगी चोट

वाधवकर आखिरी बार टीवी सीरियल 'पवित्र रिश्ता' में सुशांत सिंह राजपूत के पिता के किरदार में नज़र आए थे। मुंबई के नानावटी अस्पताल में उनका काफी समय से इलाज चल रहा था।

अपने जीवन के अंतिम समय में वाधवकर आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे और बॉलीवुड के मशहूर कॉमेडियन जॉनी लीवर ने उनकी काफी मदद की थी।

जॉनी लीवर ने की कैंसर पीड़ित कलाकार की मदद

सिने एंड टेलीविजन आर्टिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके जॉनी ने वादा किया था कि वो वाधवकर के लिए और धन जुटाएंगे।

'येस बॉस', 'फिर भी दिल है हिंदुस्तानी' और 'इंग्लिश बाबू देसी मेम' जैसी फिल्मों में काम करने वाले वाधवकर लंबे समय से कांदीवली में एक किराये के मकान में रह रहे थे।

अमिताभ बच्चन की आवाज निकालकर ठगे एक लाख 23 हजार

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस