रूपेशकुमार गुप्ता, मुंबईl फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने मुंबई में एयरपोर्ट के बाहर पत्रकारों से हुई बातचीत के दौरान मी टू अभियान पर अपनी बात खुल कर रखी हैl इस दौरान उन्होंने करण जौहर और शबाना आज़मी जैसे लोगों को आड़े हाथ लियाl

इन दिनों अपनी फिल्म मणिकर्णिका की शूटिंग में बिज़ी कंगना रनौत ने शबाना आजमी और करण जौहर जैसे लोगों से प्रश्न पूछा कि जब फिल्म इंडस्ट्री में मी टू अभियान के माध्यम से एक महत्वपूर्ण परिवर्तन के लिए लोग अपनी बात रख रहे हैं तो ऐसे में करण जौहर और शबाना आज़मी जैसे लोग कहां हैं? कंगना रनौत ने यह भी कहा कि करण जौहर, उनके जिम और एयरपोर्ट के लुक के बारे जमकर ट्वीट करवाते हैं लेकिन मी टू अभियान पर उनका एक भी ट्वीट नहीं आता l उन्हें यह समझना होगा कि यह फिल्म इंडस्ट्री हमारा अस्तित्व है और हमारे ब्रेड एंड बटर की वजह भी हैl कंगना रनौत यहीं पर नहीं रुकी l

उन्होंने यह भी कहा कि मैं इस अभियान पर प्रतिदिन बात कर रही हूं लेकिन अब फिल्म इंडस्ट्री के और भी कई महत्वपूर्ण व्यक्तियों को इन विषय पर खुलकर बात करनी होगी  मात्र एक आदमी के बोलने से अभियान पूरा नहीं होगा l कंगना रनौत ने यह भी कहा कि कॉफी विद करण का प्रोमो देखकर उन्हें लगता है कि इसमें हर बार की तरह वही बेतुकी बातें ही होंगी कि कौन किसके साथ इंटीमेट हो रहा है और कौन नहींl जबकि असल मुद्दे पर करण बात ही नहीं कर रहे हैंl गौरतलब है कि कंगना रनौत फिल्म मणिकर्णिका द क्वीन ऑफ झांसी में दिखाई देंगी l इस फिल्म में उन्होंने झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की भूमिका निभाई हैl यह फिल्म अगले साल 25 जनवरी को रिलीज़ होगी l

हाल ही में उन्होंने विकास बहल पर आरोप लगाया था l वह कहती हैं कि विकास की शादी 2014 में हुई थी लेकिन वह हमेशा ही क्वीन फिल्म की शूटिंग के दौरान हर दिन नयी पार्टनर के साथ होते थेl   वह कहती हैं कि मैं किसी को जज नहीं कर रही हूंl न ही किसी की शादी को जज कर रही हूं लेकिन आपका नशा कब आपकी कमजोरी बन जाये, पता नहीं चलता हैl  उन्होंने विकास के बारे में लिखा है कि वह रात भर पार्टी करते थे और मुझे जल्दी सोने की वजह से चिढ़ाते थेl हालांकि वह मुझसे डरते थेl  हम जब भी सोशली मिलते थे, एक दूसरे का अभिनंदन करते थे, गले लगाते थे l  वह हमेशा मेरी गर्दन पर अपने चेहरे को लगाने की कोशिश करते थे l  मुझे हमेशा काफी कस कर पकड़ने की कोशिश करते थे.मुझे उस समाज पर दुख है कि पॉवरफुल लोगों के साथ हमेशा ऐसा ही होता है लेकिन पॉवरलेस पुरुष एक मूवमेंट शुरू नहीं करेगा. अभी हमें अवसरवादी बनने की कोशिश नहीं करनी चाहिए. हमें इस मुद्दे पर खुल कर बात करनी चाहिए, न कि इसे सिर्फ टेब्लॉयड गॉसिप बना कर छोड़ देना चाहिए l 

यह भी पढ़ें: Me Too Update: नये आरोप, फिर से इंकार, और क्या हुआ नया, पढ़िये पूरी ख़बर ध्यान से

Posted By: Manoj Khadilkar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस