मुंबई। अमिताभ बच्चन ने हिंदी सिनेमा में अपना करियर 1969 की फ़िल्म सात हिंदुस्तानी से शुरू किया था। ख़्वाजा अहमद अब्बास निर्देशित फ़िल्म में अमिताभ ने एक पोइट का क़िरदार निभाया था।

अमिताभ को सक्सेस भले ही काफी बाद में मिली, लेकिन उनके साथ काम करने वाले बहुत पहले ही समझ गए थे, कि आगे चलकर लंबे क़द का ये नौजवान कुछ कर गुज़रेगा। सात हिंदुस्तानी में अमिताभ का मेकअप करने वाले पंडारी जुकेर बताते हैं कि भले ही अमिताभ की वह फिल्म कामयाब नहीं हो पायी, लेकिन मुझे अच्छी तरह याद है। इस फिल्म के लिए भी उसने कितनी तैयारी की थी। उसकी पहली फिल्म के लिए मैंने उसकी दाढ़ी बनायी थी और वह दाढ़ी अच्छे तरीके से चेहरे पर स्टिक नहीं हो पा रही थी। मुझे उस दिन के शूट के बाद तीन-चार दिन के लिए कहीं और भी जाना था। तो मुझे अच्छी तरह याद है, वह उसी दाढ़ी में तीन-चार दिन सोया और उसी तरह रह गया।फिर जब मैं लौटकर आया तो मैं भी चौंका था।

विरोध के चलते पाक एक्ट्रेस माहिरा ख़ान की रईस से छुट्टी

पंडारी कहते हैं कि इसी बात से मैंने अनुमान लगा लिया था कि यह बेहतरीन काम करने वाले कलाकारों में से एक होगा और बहुत नाम कमायेगा। अपने काम को लेकर इतनी ईमानदारी और धैर्य जो कि इस फील्ड की डिमांड है। उसमें वह सबकुछ था। पहली ही फिल्म से उसने दिल जीत लिया था।

Edited By: Manoj Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट