नई दिल्ली। लिजी वेलासक्वेज 17 साल की उम्र में उस वक्त चर्चा में आई थीं, जब उन्हें एक यू-ट्यूब वीडियो में दुनिया की सबसे बदसूरत महिला करार दिया गया था। अब वो अब एक मशहूर लेखिका, प्रेरक वक्ता और एंटी बुलींग कार्यकर्ता बन चुकी हैं आैर उनकी जिंदगी की यह असल कहानी आप बड़े पर्दे पर भी देख सकते हैं।

कपिल शर्मा को अपनी पहली फिल्म से नहीं थी इसकी उम्मीद

आपको बता दें कि लिजी एक ऐसे सिंड्रोम से पीड़ित हैं, जो उनके वजन को बढ़ने से रोकता है। उन्होंने डॉक्यूमेंट्री फिल्म 'ए ब्रेव हार्ट : द लिजी वेलासक्वेज स्टोरी' में अपने जिंदगी के सफर को बयां किया है। लिजी ने बताया कि उन्हें कई फिल्मों और रियलिटी टीवी शो के प्रस्ताव मिले।

देखें, 'सुल्तान' के लिए सलमान अभी से कैसे जमकर बहा रहे हैं पसीना

हालांकि उन्होंने पहली बार फिल्म बना रहे निर्माता सारा हिर्श बोर्डो के साथ उनके प्रोडक्शन 'वूमेन राइजिंग' के बैनर तले काम करना स्वीकार किया। इस डॉक्यूमेंट्री फिल्म को पीजी-13 रेटिंग दी गई है। बोर्डो ने कहा कि इसमें 'सेफ स्कूल इम्प्रूवमेंट एक्ट' को प्रेरित करने वाली असभ्य भाषा और त्रासदीपूर्ण कहानियां दिखाना जरूरी था। लिजी इसमें इसी के लिए प्रचार करती दिखाई देंगी।

Posted By: Pratibha Kumari