मुंबई। वरुण धवन और अनुष्का शर्मा इनदिनों अपनी आने वाली फ़िल्म 'सुई धागा' के लिए चर्चा में हैं। यह फ़िल्म 28 सितंबर को रिलीज़ हो रही है। गौरतलब है कि फ़िल्म में वरुण धवन एक टेलर का काम कर रहे हैं और इस फ़िल्म के निर्माण के दौरान उन्होंने भारतीय शिल्प कला के बारे में बहुत कुछ जान लिया है। यह फ़िल्म भारतीय बुनकरों की जीवन को सुधारने की बात करती है।

यशराज फ़िल्म्स के बैनर तले बन रही इस फ़िल्म के डायरेक्टर शरत कटारिया हैं। शरत इससे पहले 'दम लगा कर हईशा' जैसी बहुचर्चित फ़िल्म डायरेक्ट कर चुके हैं। ख़बर है की इस फ़िल्म की शूटिंग मध्य प्रदेश में हो रही है। ऐसा पहली बार हो रहा है कि वरुण धवन और अनुष्का शर्मा किसी फ़िल्म में साथ काम कर रहे हैं। 'सुई धागा' 28 सितंबर को रिलीज़ होगी। अनुष्का शर्मा कैसे बनी 'सुई धागा' का हिस्सा? नाच-गाना छोड़कर वरुण धवन ने क्यों थामा 'सुई धागा'? फिल्म के हर पहलू पर वरुण धवन और अनुष्का शर्मा से विस्तृत बातचीत, लाइट्स कैमरा एक्शन के इस एपिसोड में देखा जा सकता है। यह रहा लिंक-

फ़िल्म में अनुष्का का किरदार कढ़ाई प्रतिभा के जरिए आत्मनिर्भर बन जाता है और अपने पति मौजी के साथ अपने समुदाय में अपना खुद का नाम बनाता है। मौजी एक दर्जी है। बेरोजगारी से निकलते हुए, दोनों अपने कौशल का बेहतर उपयोग कर सफलता की नई कहानियां गढ़ते हैं। अनुष्का कहती हैं, "मैं हमेशा फिल्मों में चुनौती, नई यात्रा और अनुभव के लिए तैयार रहती हूं। मुझे पता था कि मुझे अपनी भूमिका कैसे जीवंत बनानी है सुई धागा की कला के साथ आत्मविश्वास से स्क्रीन पर आना है। मुझे एक प्रामाणिक एम्ब्रॉयडर की तरह दिखने के लिए काफी समय देना पड़ा और मेहनत करनी पड़ी। मैं इस कौशल को सीखने के लिए वास्तव में उत्साहित थी। मैं इस तैयारी में डूब गई थी और मैंने इसका पूरी तरह से आनंद लिया।"

Posted By: Hirendra J