नई दिल्ली, जेएनएन। बॉलीवुड अभिनेता शाह रुख खान के बेटे आर्यन खान के ड्रग्स केस की जांच एनसीबी के हाथ से निकलकर एसआईटी टीम को सौंप दी गई है। इस टीम का गठन दिल्ली में किया गया है। ऐसे में एसआईटी मामले से जुड़े सभी सबूतों की फिर से पड़ताल और गवानों से पूछताछ की जा रही है। पूछताछ के दौरान एक गवाह ने खुलासा किया है कि ड्रग्स मामले में आर्यन खान को फंसाने के लिए क्रूज शिप पर छापेमारी की गई थी।

अंग्रेजी वेबसाइट टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार यह बयान आर्यन खान ड्रग्स केस में विजय पगारे नाम के एक गवाह ने दिया है। विजय पगारे के मुताबिक शाह रुख खान के बेटे को ड्रग्स मामले में वसूली करने के लिए फंसाया गया था और इस छापेमारी की पहले से ही प्लान की गई थी। आर्यन खान ड्रग्स केस में इस खुलासे के बाद अब बॉलीवुड अभिनेता और खुद को फिल्म क्रिटिक्स बताने वाले केआरके (कमाल आर खान) ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

केआरके बॉलीवुड के उन सितारों में से एक हैं जो सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों पर अपनी राय देते रहते हैं। वह आर्यन खान ड्रग्स केस में भी सोशल मीडिया के जरिए अपनी राय दे रहे हैं। गवाह विजय पगारे के बयान के बाद केआरके ने दावा किया है कि आर्यन खान ड्रग्स केस में शाह रुख खान से 40 करोड़ रुपये की डिमांड की गई थी। यह बात केआरके ने सोशल मीडिया के जरिए कही है।

केआरके सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहते हैं। उन्होंने आर्यन खान ड्रग्स केस में अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, '4 अक्टूबर को, जब मैंने अपने वीडियो में कहा कि आर्यन खान को पैसे वसूली के लिए गिरफ्तार किया गया और गुंडों ने शाह रुख खान से 40 करोड़ रुपये मांगे, तो लोगों ने मुझ पर विश्वास नहीं किया। आज सब कुछ खुल गया है, और दुनिया के सामने है, और वही सच है, जो मैंने कहा था। यानी मैं मीडिया से मीलों आगे हूं।'

सोशल मीडिया पर केआरके का यह ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है। अभिनेता और शाह रुख खान के फैंस उनके ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। आपको बता दें कि आर्यन खान ड्रग्स मामले की जांच नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की केंद्रीय टीम कर रही है। एनसीबी के उप महानिदेशक संजय सिंह के नेतृत्व में नवगठित विशेष जांच दल (एसआइटी) ने शनिवार को आर्यन खान सहित छह मामलों की जांच शुरू कर दी है।  

Edited By: Anand Kashyap