नई दिल्ली, जेएनएन। अभिनेत्री कंगना रनौत ने बॉलीवुड में एजिज्म पर बहस छेड़ दी है। कंगना की बहन रंगोली ने आज कई ट्वीट कर सांड की आंख फिल्म में युवा अभिनेत्रियों (तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर) की कास्टिंग पर सवाल उठाए थे। अब इसमें अभिनेत्री नीना गुप्ता भी कूद पड़ी हैं। नीना ने ट्वीट कर लिखा है कि कम से कम हमारी उमर वाले रोल तो हमसे करा लो भाई। 

नीना गुप्ता के ट्वीट के जवाब में रंगोली ने लिखा, नीना जी कंगना को इस फिल्म की पेशकश की गई थी। उन्हें यह सच्ची कहानी पसंद भी आई थी। पर उन्होंने आपका और राम्या कृष्णन का नाम मुख्य भूमिकाओं के लिए सुझाया था। लेकिन पुरुष दिमाग से गहरे लिंगभेद को दूर नहीं कर सकते हैं।

शूटर दादी की कहानी

सांड की आंख शूटर चंद्रो और प्रकाशी तोमर की कहानी है। दोनों महिलाएं बागपत की रहने वाली हैं। दोनों ने 60 साल की उम्र में अपनी शूटिंग की ट्रेनिंग शुरू की। 60 साल की उम्र तक उन्हें शूटिंग का शौक नहीं था, लेकिन एक दिन प्रकाशी ट्रेनिंग रेंज में गईं। उनका निशाना सही लगा। इसके बाद से उन्होंने शूटिंग शुरू कर दी। फिर बहन चंद्रो तोमर ने भी शूटिंग शुरू की।

आ गया है फिल्म का ट्रेलर

सांड की आंख का ट्रेलर कल ही आया है। ट्रेलर में दिख रहा है तापसी और भूमि ऐसे गांवों में रहती हैं जहां औरतों को घूंघट हटाने की इजाजत नहीं है। पर हर मुश्किल को झेलकर दोनों शूटिंग करती हैं। यह फिल्म इस दिवाली पर रिलीज होगी।  

Posted By: Vineet Sharan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप