नई दिल्ली, जेएनएन। देशभर में इस वक़्त नये कृषि बिल की चर्चा हो रही है। तमाम लोग इसका विरोध कर रहे हैं और इस विरोध की आंच कंगना तक पहुंच गयी है। कंगना पर आरोप है कि उन्होंने किसानों को आतंकी कहा है। हालांकि एक्ट्रेस ने इसका जवाब दिया है। दरअसल, रविवार को कंगना ने एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक ट्वीट को रीट्वीट किया था। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट के ज़रिए विरोध कर रहे किसानों की ग़लतफ़हमी दूर करने की कोशिश की थी। 

कंगना ने इस ट्वीट के साथ लिखा था- ''प्रधानमंत्री जी कोई सो रहा हो उसे जगाया जा सकता है, जिसे ग़लतफ़हमी हो उसे समझाया जा सकता है, मगर जो सोने की ऐक्टिंग करे, ना समझने की ऐक्टिंग करे उसे आपके समझाने से क्या फ़र्क़ पड़ेगा? ये वही आतंकी हैं। CAA से एक भी इंसान की सिटिज़नशिप नहीं गयी, मगर इन्होंने ख़ून की नदियाँ बहा दीं। 

कंगना के इस ट्वीट का लोगों ने मतलब निकाला कि कंगना किसानों को आतंकी कह रही हैं। इसका जवाब देते हुए एक्ट्रेस ने सोमवार को ट्वीट किया, जिसके ज़रिए उन्होंने कुछ नेताओं पर निशाना साधा। कंगना ने लिखा- ''जैसे श्री कृष्ण की नारायणी सेना थी, वैसे ही पप्पू की भी अपनी एक चंपू सेना है, जो की सिर्फ़ अफ़वाहों के दम पे लड़ना जानती है। यह है मेरा ओरिजिनल ट्वीट। अगर कोई यह सिद्ध कर दे कि मैंने किसानों को आतंकी कहा, मैं माफ़ी मांगकर हमेशा केलिए ट्विटर छोड़ दूंगी।''

कंगना ने अपनी बात को और साफ़ करते हुए कहा कि जो सीएए के बारे में भ्रामक सूचनाएं और अफ़वाहें फैलाते हैं, वही लोग अब किसानों के बिल को लेकर ग़लत सूचना फैला रहे हैं और देश में आतंक की स्थिति बना रहे हैं। आप सबको अच्छे से पता है कि मैंने क्या कहा था, लेकिन उन्हें तो भ्रामक सूचनाएं फैलानी हैं। 

बता दें कि कंगना इन दिनों ट्विटर पर काफ़ी मुखर हैं और तकरीबन हर मुद्दे पर अपनी राय रख रही हैं। सुशांत सिंह राजपूत डेथ से लेकर बॉलीवुड में ड्रग्स और नेपोटिज़्म पर कंगना पूरी बेबाकी से अपनी बात रखी है। पिछले दिनों महाराष्ट्र सरकार से भिड़ने के लिए भी कंगना ख़बरों में रही थीं। कंगना के पाली हिल स्थित ऑफ़िस में अवैध निर्माण को लेकर तोड़फोड़ की गयी थी, जिसकी 22 सितम्बर को हाई कोर्ट में सुनवाई है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस