नई दिल्ली, जेएनएन। IIFA Awards: बॉलीवुड के सबसे बड़े अवॉर्ड्स में से एक इंटरनेशनल इंडियन फिल्म अकेडमी अवॉर्ड्स यानी IIFA अवॉर्ड्स की घोषणा कर दी गई है। 18 सितंबर की रात मुंबई में हुए रंगारंग समारोह में 'कहो ना प्यार है' को पिछले 20 सालों की बेस्ट फ़िल्म का अवॉर्ड दिया गया।

इस मौक़े पर पेश है, IMDB की 10 बेस्ट  फ़िल्मों की लिस्ट। आइएमडीबी, फ़िल्मों की रेटिंग रजिस्टर्ड वोटर के आधार पर करती है। इसी आधार पर हमने पिछले 20 सालों की टॉप-10 बॉलीवुड फ़िल्मों की लिस्ट निकाली है। हैरानी की बात है कि इसमें 'कहो ना प्यार है' का नाम टॉप 10 फ़िल्मों में शामिल नहीं है। 

1.ब्लैक प्राइडे- साल 2004 बनी यह अनुराग कश्यप की डायरेक्ट की हुई पहली फ़िल्म है। यह 1993 के मुंबई सीरियल बम ब्लास्ट पर आधारित है। हालांकि, इस फ़िल्म को रिलीज़ होने के लिए 3 साल का  इंतज़ार करना पड़ा। साल 2007 में रिलीज़ इस फ़िल्म को इंडियन फ़िल्म फेस्टिवल ऑफ लॉस एंजेलिस में गोल्डन ज्यूरी प्राइज से नवाजा गया।

2. थ्री इडियट्स- साल 2009 की सबसे बेहतरीन फ़िल्म थी थ्री इडियट। राजकुमार हिरानी की इस फ़िल्म में आमिर खान, आर. माधवन और शरमन जोशी ने शानदार काम किया है। इसे बेस्ट पॉपुलर फ़िल्म की कैटेगरी में नेशनल फ़िल्म अवॉर्ड दिया गया। इसके अलावा इस फ़िल्म को 6 कैटेगरी में फ़िल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला। इसके कई विदेशी फ़िल्म फेस्टिवल्स में भी इस फ़िल्म ने अवॉर्ड जीते हैं।

3.दंगल- आमिर ख़ान की एक और फ़िल्म ने खूब सुर्खियां बटोरीं। साल 2016 में आई दंगल को नितेश तिवारी ने डायरेक्ट किया। इस फ़िल्म को बेस्ट एशियन फ़िल्म का अवॉर्ड मिला। इसके अलावा फ़िल्म फेयर में बेस्ट फ़िल्म का अवॉर्ड भी मिला।

4.तारे ज़मीं पर- साल 2007 में आई इस फ़िल्म को आमिर ख़ान ने डायरेक्ट और प्रोड्यूस किया था। इस फ़िल्म को फ़िल्म वेलफेयर कैटेगरी में बेस्ट फ़िल्म का नेशनल अवॉर्ड मिला। इसके अलावा इस फ़िल्म को फ़िल्म फेयर अवॉर्ड से भी नवाजा गया।

5. निल बटे सन्नाटा- साल 2015 में मां-बेटी के इर्द गिर्द बुनी गई कहानी पर एक फ़िल्म आई, जिसका नाम निल बटे सन्नाटा था। स्वरा भाष्कर और पंकज त्रिपाठी जैसे कलाकरों से सजी इस फ़िल्मों को लोगों से खूब तारीफ मिली। imdb पर इसकी रेटिंग 8.4 है।

6.दृश्यम- साल 2015 में ये आई सपेंस थ्रिलर फ़िल्म दृश्यम ने भी खूब तारीफें बटोरी। अजय देवगन और तब्बू स्टारर यह फ़िल्म एक तमिल फ़िल्म की रीमेक है। इसे डायरेक्ट किया है निशिकांत कामत ने। इस फ़िल्म ने बॉक्स ऑफ़िस पर भी जमकर धमाल मचाया था।

7.खोसला का घोसला- 54वें नेशनल फ़िल्म फेस्टिवल अवॉर्ड में 'बेस्ट फ़ीचर फ़िल्म इन हिंदी' का अवॉर्ड दिबाकर बनर्जी की 'खोसला का घोसला' को मिला। इस कॉमेडी फ़िल्म में अनुपम खेर, बोमन इरानी और विनय पाठक जैसे मझे हुए कलाकारों ने काम किया है। बाद में अलग-अलग भाषाओं में इसका रीमेक भी बनाया गया।

8.शाहिद- मनावाधिकार कार्यकर्ता शाहिद आज़मी के ऊपर हंसल मेहता ने एक फ़िल्म बनाई। साल 2013 में आई इस फ़िल्म को बेस्ट डारेक्टर कैटेगरी में नेशनल अवॉर्ड मिला। इस फ़िल्म मे राजकुमार राव के काम को भी जमकर सराहना मिली।

9.पी.के- साल 2014 में एक बार फिर बड़े पर्दे पर राजकुमार हिरानी और आमिर ख़ान की जोड़ी नज़र आई। धार्मिक अंधविश्वास को लेकर बनी फ़िल्म पीके को लेकर विवाद भी हुआ। हालांकि, इस फ़िल्म ने बॉक्स ऑफ़िस और क्रिटिक्स रूम, दोनों में ही बेहतरीन प्रदर्शन किया।

10. गैंग्स ऑफ़ वासेपुर- इस साल ही द गार्जियन ने 21 वीं सदी की वर्ल्ड टॉप 100 फ़िल्म की लिस्ट जारी की। इसमें सिर्फ एक भारतीय फ़िल्म को जगह मिली, वो है अनुराग कश्यप की गैंग्स ऑफ़ वासेपुर । साल 2012 में इस फ़िल्म को दो पार्ट में रिलीज़ किया गया था। इसे बेस्ट फ़िल्म का नेशनल अवॉर्ड मिला। इसके अलावा फ़िल्म को देश-विदेश में कई अवॉर्ड्स मिले।

Posted By: Rajat Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस