मुंबई। कादर ख़ान ऐसे कलाकार थे जो अपने पीछे अदाकारी और संवाद लेखन की बहुत बड़ी विरासत छोड़ गये हैं। उन्होंने कई पीढ़ी के एक्टर्स के साथ काम किया। उनके लिखे संवाद आज भी प्रासंगिक हैं। यही वजह है कि ना सिर्फ़ उनके साथ काम कर चुके, बल्कि उनसे बहुत जूनियर कलाकार भी दुखी हैं और अपने कादर भाई को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। नब्बे के दशक में कादर ख़ान फ़िल्मों में काफ़ी सक्रिय थे। गोविंदा, रवीना टंडन, अक्षय कुमार और अजय देवगन जैसे सितारों ने उनके साथ कई फ़िल्में की थीं। 

90 के दशक की कॉमेडी फ़िल्मों में गोविंदा और कादर ख़ान की जोड़ी अक्सर नज़र आती थी। दोनों के बीच ऑनस्क्रीन केमिस्ट्री कहानी को अलग ही आयाम दिया करती थी। गोविंदा को कॉमिक टाइमिंग का मास्टर माना जाता है तो कादर ख़ान के साथ इस टाइमिंग का कोई जवाब नहीं होता था। कभी गोविंदा के पिता तो कभी ससुर बनकर कादर ख़ान ने दर्शकों को ख़ूब गुदगुदाया। हीरो नंबर 1, बनारसी बाबू, नसीब, आंटी नंबर 1, दूल्हे राजा, बड़े मियां छोटे मियां, अनाड़ी नंबर 1, हसीना मान जाएगी... लिस्ट बहुत लंबी है। उस दौर की गोविंदा की फ़िल्म का नाम लीजिए और उसमें किसी ना किसी किरदार में कादर ख़ान को पाएंगे। 

कादर ख़ान का गुज़रना चीची के लिए निजी नुक़सान से कम नहीं। तभी तो जज़्बात बयां करते हुए शब्दों में उनका दर्द छलक उठता है। इंस्टाग्राम पर वेटरन एक्टर को श्रद्धांजलि देते हुए गोविंदा लिखते हैं- ''श्रद्धांजलि कादर ख़ान साहब। वो मेरे उस्ताद ही नहीं, बल्कि पिता तुल्य थे, उनका मिडास टच और आभा उनके साथ काम करने वाले हर एक्टर को सुपरस्टार बना देती थी। पूरी फ़िल्म इंडस्ट्री और मेरा परिवार इस क्षति से व्यथित है और शब्दों में अपने दुख को बयां नहीं कर सकते। मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि उन्हें अपने चरणों में स्थान दें।'' 

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

RIP Kader Khan Saab. . He was not just my "ustaad" but a father figure to me, his midas touch and his aura made every actor he worked with a superstar. The entire film industry and my family deeply mourns this loss and we cannot express the sorrow in words. I pray to God that may his soul rest in peace. . . #ripkaderkhansaab

A post shared by Govinda (@govinda_herono1) on

कमोबेश कुछ यही हाल रवीना टंडन का है, जिन्होंने गोविंदा और कादर ख़ान के साथ कई फ़िल्मों में नायिका का रोल निभाया। रवीना लिखती हैं- ''आपकी बहुत याद आएगी। आपके जैसा ह्यूमर और स्क्रीन प्रेज़ेस किसी के पास नहीं था। आतिश, घरवाली बाहरवाली से लेकर दूल्हे राजा, वाह तेरा क्या कहना से लेकर बड़े मियां छोटे मियां। कादर भाई, आपकी यादों का ख़ज़ाना है। परिवार के लिए संवेदनाएं।''

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

#kaderkhan you shall be missed . No one had the humour wit and presence on screen like you did, from Aatish ,gharwali baharwali,to Dulhe Raja ,wah tera kya kehna to Bade Miyan Chote Miya.you leave treasured memories kader bhai ,. 🕉...🙏🏻🕉 condolences to the family .

A post shared by Raveena Tandon (@officialraveenatandon) on


नब्बे के दौर में अक्षय कुमार ने कादर ख़ान के साथ मुझसे शादी करोगी, तराज़ू समेत कुछ फ़िल्मों में काम किया था। उस दौर को याद करते हुए अक्षय ने लिखा है- कादर ख़ान साहब के निधन की ख़बर ने दुखी कर दिया है। कुछ फ़िल्मों में उनके साथ काम करने का मौक़ा मिला। बेहतरीन अदाकार और उससे भी अच्छे कॉमेडियन थे। परिवार के लिए मेरी प्रार्थनाएं।

अजय देवगन ने एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें वो कादर ख़ान और काजोल के साथ हैं। अजय ने लिखा है- कादर भाई को श्रद्धांजलि। दिग्गज कलाकार, लेखक और बेहतरीन इंसान। आप हमेशा याद आएंगे।

वरुण धवन के पिता डेविड धवन की कई कॉमेडी फ़िल्मों में गोविंदा के साथ कादर ख़ान ने काम किया। 90 के दौर में डेविड की तकरीबन हर फ़िल्म में कादर ख़ान होते थे। इस लिहाज़ से वरुण ने बचपन से कादर ख़ान को देखा है। निधन से दुखी वरुण लिखते हैं- ''कादर ख़ान साहब को श्रद्धांजलि। मेरी प्रेरणाओं में से एक और सचमुच अदाकारी, लेखन और मंच कला के प्रतीक। मेरे पिता के सिनेमा में उनका योगदान असीमित है बिल्कुल उनके हुनर की तरह। आपकी सभी को बहुत याद आएगा।'' 

बीमारी के चलते कादर ख़ान ने फ़िल्मों में काम करना काफ़ी कम कर दिया था। 2015 में वो अर्जुन कपूर और सोनाक्षी सिन्हा की फ़िल्म तेवर में एक छोटी सी भूमिका में दिखे थे। कपूर ने कादर ख़ान को याद करते हुए अर्जुन ने लिखा है- ''एक ऐसे अभिनेता और लेखक, जिन्होंने एक पीढ़ी को परिभाषित किया। आपके जाने से इंडस्ट्री में जो रिक्त स्थान हुआ है, उसे भरा नहीं जा सकेगा। श्रद्धांजलि। परिवार को मेरी हार्दिक संवेदनाएं।''

अनुपम खेर ने कादर ख़ान के साथ कई फ़िल्मों में काम किया है। अनुपम ने उनके निधन पर गहरा अफ़सोस ज़ाहिर किया है और उन्हें एक ऐसा विद्वान बताया है, जो किसी भी विषय पर बात कर सकता था। 

निर्देशक जोड़ी अब्बास मस्तान ने भी कादर ख़ान को श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें इंडस्ट्री का श्रेष्ठ लेखक और इंसान कहा है।

लता मंगेशकर ने कादर ख़ान को याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की है। लता ने लिखा है- मेरे पसंदीदा अभिनेता और लेखक कादर ख़ान जी के निधन की वार्ता सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ। हमारी फ़िल्म इंडस्ट्री ने एक बहुत अच्छा कलाकार और लेखक खो दिया। मेरी उनको विनम्र श्रद्धांजलि।

Posted By: Manoj Vashisth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप