नई दिल्ली, जेएनएन। शाहिद कपूर और कियारा आडवाणी की फिल्म ‘कबीर सिंह’ एक बार फिर विवादों में आ गई है, लेकिन इस बार विवाद ख्यालों पर मतभेद को लेकर नहीं, इस बार विवाद एक केस से जुड़ा है। बीते दिनों एक खबर आई थी कि अश्वनी कुमार नाम के लड़के ने एक लड़की की हत्या कर दी। लड़की की हत्या से पहले उसने 'टिक टॉक' पर ‘कबीर सिंह’ का एक डायलॉग लिखा था ‘जो मेरा नहीं हो सका उसे किसी और का होने का मौका नहीं दूंगा’। इसके बाद लड़के ने लड़की का खून कर दिया। अश्वनी ने जिस लड़की की हत्या की उसका नाम निकिता शर्मा था जो कि एक फ्लाइट अटेंड थी।

इस पूरे केस के बाद ‘कबीर सिंह’ पर फिर से सवाल उठने लगे जिसपर अब फिल्म डायरेक्टर संदीप वांगा रेड्डी का रिएक्शन आया है। मिड डे से बातचीत में संदीप ने कहा कि ‘मैं उस लड़की और उसके परिवार के लिए बहुत सॉरी फील करता हूं। ये बहुत बुरा है कि लड़की की जिंदगी चली गई। एक निर्माता होने के नाते हम अपने काम के जिम्मेदार हैं और हमें इस पर विचार करने की जरूरत है। लेकिन मेरी फिल्में कभी भी किसी की हत्या नहीं करती हैं। कबीर सिंह और अर्जुन रेड्डी हत्यारे नहीं थे'।

खुद को विलेन बताता था अश्विन कुमार :

इस केस में एक और हैरान करने वाली बात ये है कि अश्वनी ने खुद को भी गोली मार ली। दरअसल, अश्विन कुमार 'टिक टॉक' (Tik Tok) पर जॉनी दादा के नाम से जाना जाता था। वो 'टिक टॉक' पर खुद को विलेन बताता था। वो अक्सर ऐसे पोस्ट भी डालता था जिसमें वो खुद को विलेन कहता था। सिरफिरे ने निकिता को कई साल  पहले प्रपोज किया था लेकिन निकिता ने इनकार कर दिया जिसके बाद अब उसने निकिता के हत्य कर दी। निकिता से पहले वो दो और लोगों की हत्याएं कर चुका था। पुलिस ने उसके ऊपर 50 हज़ार का नाम रखा था।  जब पुलिस उसे पड़ने पहुंची तो उसने खुद को भी गोली मार ली थी। 

Posted By: Nazneen Ahmed

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप