नई दिल्ली, जेएनएन। लीना मणिमेकलई की डॉक्यूमेंट्री 'काली' पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। देशभर में लोग काली मां के सिगरेट पीने वाली तस्वीर पर खासे गुस्से में हैं। एक तरफ लीना मणिमेकलई के खिलाफ देश के पुलिस थानों में एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग की जा रही है। तो वहीं दूसरी तरफ डायरेक्टर लीना ने एक और तस्वीर शेयर कर इस विवाद की आग में घी का काम कर रही हैं। सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को लेकर भी बवाल खड़ा हो गया है।

काली की डायरेक्टर लीना मणिमेकलई ने अपने सोशल मीडिया पेज पर एक और विवादित तस्वीर शेयर की है। इसमें उन्होंने शिव और पार्वती के गेटअप में दो कलाकार दिखाएं हैं, शिव सिगरेट पी रहे हैं और पार्वती अपने सिगरेट को लाइटर से जलाती नजर आ रहीं हैं। ये दोनों की कलाकार गेटअप में हैं। इस पोस्ट के साथ उन्होंने कैप्शन में लिखा, ' कहीं और'...

काली के पोस्टर की तरह इस तस्वीर पर भी लोग भड़क गए हैं। बीजेपी नेता शहजाद पूनावाला ने इस पोस्ट पर टिप्पणी करते हुए लिखा, 'यह रचनात्मक अभिव्यक्ति की बात नहीं है, यह जानबूझकर उकसाने का मामला है। क्या हिंदुओं को गाली देना धर्मनिरपेक्षता है? हिंदू आस्था का अपमान करना, उदारवाद है ?' इतना ही नहीं शहजाद ने आगे लिखा, 'लीना की हिम्मत इसलिए इतनी बढ़ रही है क्योंकि उसको पता है कि लेफ्ट पार्टियां, कांग्रेस, टीएमसी उनके सपोर्ट में खड़ी है।' 

बता दें कि ये सारा विवाद तब शुरू हुआ जब लीना ने अपनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म काली का पोस्टर रिलीज किया। इस पोस्ट में माता काली के एक हाथ में सिगरेट और दूसरे हाथ में एलजीबीटी समुदाय का झंडा दिखाया गया। विवाद के बाद ट्विटर ने प्रोड्यूसर-डायरेक्टर लीना मणिमेकलई का पोस्ट हटा लिया था। देशभर में लीना के पोस्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए गए हैं। लोग लीना की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

लीना मणिमेकलई मदुरई के दक्षिण में स्थित सुदूर गांव महाराजपुर की रहने वाली हैं। उनके पिता कॉलेज लेक्चरर थे। उनके यहां मामा से शादी कराने का रिवाज था, जब लीना को पता चला तो भाग कर चेन्नई आ गईं।  इसके बाद उन्होंने इंजीनियरिंग की और आईटी सेक्टर में अपना भविष्य बनाया।

Edited By: Ruchi Vajpayee