मुंबई। तब किसी ने सोचा नहीं था कि इतनी चर्चा पाने वाली अभिनेत्री बीना राय एक झटके में शादी कर लेंगी और अपने करोड़ों प्रशंसकों का दिल तोड़ेंगी। लेकिन ऐसा ही हुआ था। दरअसल, बीना राय की खूबसूरती के दीवाने थे अभिनेता प्रेमनाथ।

भगवानदास वर्मा निर्मित फिल्म 'औरत' प्रेमनाथ के साथ बीना राय की पहली फिल्म थी। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान दोनों के बीच प्यार हुआ। कुछ ही समय बाद दोनों ने शादी कर ली। इस फिल्म में बीना राय ने एक तेजतर्रार चुलबुली लड़की की भूमिका निभाई थी। हर शॉट के बाद वे शरमा जाती थीं। उन्हें बार-बार ऐसा करते देख प्रेमनाथ ने छेड़ते हुए अपने अंदाज में कहा, तुम्हारे जैसी लड़की को फिल्मों में काम करने की बजाय घर बसा लेना चाहिए। वक्त के साथ पर्दे का प्यार वास्तविक जीवन में भी झलकने लगा और दोनों ने शादी कर ली। उन्होंने अपना हनीमून अमेरिका में मनाया। ये दोनों वहां भारतीय प्रतिनिधि के रूप में गए थे।

देखें तो, आज की हीरोइनें चर्चा में रहते हुए शादी नहीं करतीं, लेकिन बीना राय ने ऐसा नहीं सोचा। इसकी वजह थी कि वे एक परंपरागत भारतीय परिवार से थीं। माता-पिता के संस्कार उनमें थे। यही वजह थी कि उन्होंने फिल्मी चकाचौंध को कभी अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया।

विवाह के बाद बीना राय ने पारिवारिक जिम्मेदारी संभालते हुए अच्छी फिल्मों में अभिनय किया। विवाह के बाद भी उन्हें बतौर हीरोइन खूब चर्चा मिली। 'औरत' के बाद 'गौहर', 'शोले', 'शगूफा' (1953), 'मीनार', 'गोलकुंडा का कैदी' (1954), 'सरदार', 'मैरिन ड्राइव', 'इंसानियत', 'मदभरे नैन' (1955), 'चंद्रकांत', 'हमारा वतन', 'दुर्गेशनंदिनी' (1956), 'तलाश', 'समुंदर', 'चंगेज खां' (1957), 'घूंघट', 'वल्लाह क्या बात है' (1960), 'ताजमहल' (1963), 'दादी मां' (1966) और 'राम राज्य' (1967) फिल्मों में उन्होंने अभिनय किया। इन फिल्मों में उनके हीरो थे अशोक कुमार, दिलीप कुमार, देव आनंद, भारत भूषण, किशोर कुमार, प्रदीप कुमार, अजीत, प्रेमनाथ, किशोर साहू, कुमार सेन, आगा, रहमान और शम्मी कपूर जैसे अपने समय के जाने-माने अभिनेता।

ज्यादातर लोग 13 के अंक को अशुभ मानते हैं, लेकिन बीना राय की जिंदगी में इस तारीख की अहम भूमिका रही। जहां 13 जुलाई 1932 को उनका जन्म हुआ, वहीं 13 जुलाई 1950 को उन्होंने अपनी पहली फिल्म 'काली घटा' के लिए कॉन्ट्रैक्ट साइन किया। एक फिल्म के लिए राशि मिली थी पचीस हजार। यह फिल्म 13 जुलाई 1951 को रिलीज हुई थी और 13 जुलाई 1952 को उनकी सगाई प्रेमनाथ के साथ हुई।

पढ़ें:ये जिंदगी उसी की है.

बीना राय अभिनीत फिल्म 'अनारकली' की सफलता के बाद निर्माता-निर्देशक के. आसिफ ने उन्हें अपनी फिल्म 'मुगल-ए-आजम' में अनारकली की मुख्य भूमिका देने की बात की थी, लेकिन बात नहीं बनी। बीना राय ने पता नहीं क्यों, इसके लिए मना कर दिया। बीना राय ने वैसे तो अशोक कुमार, प्रेमनाथ और भारत भूषण के साथ अधिक फिल्में कीं, लेकिन उन्हें लोगों के दिल में बसाने वाली फिल्में थीं 'अनारकली' और 'ताजमहल'। इनमें उनके हीरो थे प्रदीप कुमार। जिस तरह लोग 'अनारकली' के गीत सुनकर झूम उठते थे, उसी तरह 'ताजमहल' के गीत भी सदाबहार साबित हुए। 'जो वादा किया वो निभाना पड़ेगा.', 'जो बात तुझमें है तेरी तस्वीर में नहीं..' और 'पांव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी..' ने तो तब के कई प्रेमी युवा को मतवाला बना दिया था। पुष्पा पिक्चर्स के बैनर तले बनी एम. सादिक निर्देशित फिल्म 'ताजमहल' के गीत लिखे थे साहिर लुधियानवी ने और संगीतकार थे रोशन। फिल्म के अन्य कलाकार थे रहमान, जीवन, मोहन चोटी, हेलन, मीनू मुमताज, वीणा, सुलोचना, मुराद आदि, लेकिन इन दोनों फिल्मों ने बीना राय को चर्चा के अलावा कुछ न दिया। उन्हें फिल्म 'घूंघट' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर अवार्ड मिला। उनकी अपनी फिल्म कंपनी ने 'शगूफा', 'गोलकुंडा का कैदी' और 'समुंदर' का निर्माण किया। इनमें वे पति प्रेमनाथ के साथ थीं। 1967 के बाद वे अभिनय से नाता तोड़कर पूरी तरह घर-गृहस्थी में रम गई।

कभी लाखों फिल्मी दर्शकों के दिलों पर राज करने वाली हीरोइन बीना राय अंतिम समय में मुंबई के मालाबार हिल स्थित अनीता भवन में बेटे प्रेम किशन और कैलाश नाथ के साथ रहती थीं। प्रेम किशन फिल्म-सीरियल निर्माण से जुड़े हैं। प्रेम किशन की बेटी आकांक्षा भी कई फिल्मों में काम कर चुकीं हैं। बीना राय का निधन 5 दिसंबर 2009 को हुआ था। अंतिम समय में बेटे-बहू, पोते-पोतियों के साथ जीवन बिताने वाली बीना राय का भी अपना जमाना था। लोग उन्हें कहते थे 'अनारकली' और 'मुमताज महल', लेकिन अब यह सब बीती बातें हैं। हां, इतना जरूर है कि जब कभी उनकी फिल्म 'अनारकली' और 'ताजमहल' के सदाबहार गीत सुनाई देंगे, बीना राय का सुंदर चेहरा आंखों के आगे जरूर झिलमिलाएगा और मन में एक सवाल कौंध जाएगा कि एक थीं बीना राय..।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप