नई दिल्ली, जेएनएन। Javed Akhtar Trolled प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने राज्यसभा में अपने संबोधन के दौरान एक शेर कहा था, जिसमें सरकार के मज़बूत इरादों की बात दोहराई गयी थी। सोशल मीडिया में इस शेर को कुछ लोगों ने ग़ालिब से जोड़ दिया, तो जावेद अख़्तर (Javed Akhtar) ने इसे ग़लत बताया, जिस पर कुछ यूज़र्स ने जावेद अख़्तर को ट्रोल कर दिया। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी स्पीच के दौरान कहा था- ''जब हौसला बना लिया ऊंची उड़ान का, फिर देखना फिजूल है क़द आसमान का।'' यह शेर उनकी स्पीच के साथ सोशल मीडिया में पोस्ट भी किया गया था। इस पर जावेद अख़्तर ने लिखा- ''वो शेर जो प्रधानमंत्री साहब ने राज्य सभा में अपनी स्पीच के दौरान कहा, उसे सोशल मीडिया में ग़ालिब से ग़लत जोड़ा जा रहा है। दरअसल, दोनों पंक्तियां तो मीटर में भी नहीं हैं।''

बस फिर क्या था, मोदी सरकार के आलोचक रहे जावेद अख़्तर ने शेर में मीनमेख़ क्या निकाला, लोग पीछे पड़ गये। एक यूज़र ने लिखा- ''लगता है इनसिक्योरिटी हो गयी जनाब को। कहीं मोदी शायर ना बन जाए।'' एक दूसरे यूज़र ने लिखा कि नरेंद्र मोदी साहित्यकार नहीं हैं, लेकिन फिर भी जावेद अख़्तर को चोट पहुंचा गया। एक ने लिखा कि जावेद साहब, हम आपका आदर करते हैं, पर यह शोभा नहीं देता आपको।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manoj Vashisth