नई दिल्ली, जेएनएन।HBD Mehmood: महमूद ना सिर्फ कमाल के एक्टर थे, बल्कि वह डायरेक्टर और प्रोड्यूसर भी थे।  महमूद का अपना स्टूडियो भी था। अमिताभ बच्चन को बड़ा ब्रेक देने का काम भी महमूद ने किया था।  साल 1969 में आई 'सात हिन्दुस्तानी' के बाद से अमिताभ लगातार काम की तलाश में थे। इस तलाश को महमूद ने पूरा किया। उन्होंने अपनी फ़िल्म 'बॉम्बे टू गोवा' में बतौर लीड रोल उन्हें (अमिताभ) मौका दिया। यह पहली बार था, जब अमिताभ लीड रोल में नज़र आ रहे थे। लेकिन क्या आपको पता है, यह रोल पहले राजीव गांधी को ऑफ़र किया गया था। आज हम महूमद  के बर्थ एनिवर्सरी इसके बार में बता रहे हैं।

बॉम्बे टू गोवा फ़िल्म साल 1972 में बड़े पर्दे पर आई थी। यह फ़िल्म इतनी फेमस हुई कि बाद में इसके कई रीमेक भी बने। 'द हिंदू' में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, इस फ़िल्म का लीड रोल पहले राजीव गांधी को ऑफ़र किया गया था। तब राजीव गांधी राजनीति में अपने कदम नहीं रखे थे। हालांकि, कई कारणों की वजह से राजीव ने इस रोल के लिए मना कर दिया। इसके बाद यह अमिताभ के फ़िल्म करियर के लिए बड़ी फ़िल्म साबित हुई। इसके बाद उन्होंने कई शानदार फ़िल्में की।

बता दें कि 29 सितंबर, 1932 को जन्में महमूद ने लगभग पांच दशक तक लोगों को अपनी कॉमेडी से एंटरटेन किया। उन्होंने पड़ोसन, बॉम्बे टू गोवा, कुवंरा बाप और गुमनाम जैसी शानदार फ़िल्में की। जिसके बाद उन्हें कॉमेडी किंग नाम दिया गया। उनको उनके डायलॉग्स के लिए हमेशा याद किया जाता है। वह उस दौर के ऐसे कॉमेडी एक्टर थे जिनकी फोटो पोस्टर में हीरो के साथ छपती थी।

Photo Credit- Mid-Day

Posted By: Rajat Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप