नई दिल्ली, जेएनएन। हिंदी सिनेमा के दिग्गज और मशहूर अभिनेता सनी देओल बॉलीवुड के बड़े कलाकारों में से एक हैं। उन्होंने अपने बेहतरीन अभिनय से बड़े पर्दे पर अमिट छाप छोड़ी है। हिंदी फिल्मों में सनी देओल का गुस्सैल और धाकड़ अंदाज उन्हें एक अलग कलाकार बनाता है। सनी देओल का जन्म 19 अक्टूबर 1956 को मशहूर अभिनेता धर्मेंद्र के घर में हुआ था। उनका असली नाम अजय सिंह देओल है।

सनी देओल ने अपनी पढ़ाई भारत और लंदन से की है। इसके बाद उन्होंने फिल्मी दुनिया में कदम रखा। फिल्मी परिवार से संबंध रखने की वजह से सनी देओल का रूझान हमेशा से अभिनय की ओर रहा था। उन्होंने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत साल 1984 में आई फिल्म 'बेताब' से की थी। इस फिल्म में उनके साथ अभिनेत्री अमृता सिंह मुख्य भूमिका में थीं। सनी देओल की छवि हिंदी फिल्म जगत में एक्शन हीरो की रही है।

उन्हें यह तमगा उनके करियर की दूसरी फिल्म 'अर्जुन' से मिल गया था। उनकी यह फिल्म साल 1985 में आई थी। सनी देओल ने अस्सी और नब्बे के दशक में कई शानदार फिल्मों में काम किया। साल 1986 में वह अपने पिता धर्मेंद्र के साथ नजर आए। इसके बाद सनी देओल ने 'डकैत' (1987), 'यतीम' (1988) 'त्रिदेव' (1988) और 'चालबाज' (1989), 'घायल' (1990), 'घातक' (1996) और 'गदर' (2001) जैसी कई फिल्मों में काम किया और प्रशंसा बटोरी।

उनकी निजी जिंदगी की बात करें तो फिल्मों में ढेर सारे गुंडों को उठा-उठाकर पटकने वाले सनी देओल को एक बार असल जिंदगी में भी गुंडों का सामना करना पड़ा था। इस बात का खुलासा सनी देओल के भाई अभिनेता बॉबी देओल ने कॉमेडियन कपिल शर्मा के शो में किया था। बॉबी देओल ने बताया कि एक बार सनी देओल अपने दोस्तों के साथ एक पेट्रोल पंप पर रुके हुए थे।

इस दौरान उन्हें 3-4 गुंडों ने घेर लिया और झगड़ा करने लगे थे। सनी देओल ने उन सभी गुंडो का अकेले सामना किया था और उनका कोई भी दोस्त कार से निकलर बाहर नहीं आया था। अभिनेता ने सभी गुंडों की जमकर पीटा था। सनी देओल की शादीशुदा जिंदगी की बात करें तो उनकी पत्नी का नाम पूजा देओल है। सनी देओल और पूजा के दो बेटे करण और राजवीर है। करण देओल फिल्मों में डेब्यू कर चुके हैं। फिलहाल सनी देओल बीजेपी की सीट पर गुरदासपुर से सांसद हैं।  

Edited By: Anand Kashyap