नई दिल्ली, जेएनएन। राजपाल यादव बॉलीवुड के उन मशहूर और दिग्गज हास्य कलाकारों से एक हैं जिन्होंने अपनी शानदार कॉमेडी ने दर्शकों के दिलों को हमेशा जीता है। उत्तर प्रदेश से संबंध रखने वाले राजपाल यादव ने लंबे संघर्ष के बाद बॉलीवुड के अपनी खास जगह बनाई है। वह अपना जन्मदिन 16 मार्च को मनाते हैं। इस मौके पर हम आपको उनसे जुड़ी खास बातें बताते हैं।

राजपाल यादव का जन्म 16 मार्च 1971 को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में हुआ था। उन्होंने अपनी पूरी पढ़ाई उत्तर प्रदेश से की है। राजपाल यादव ने अभिनय की पढ़ाई नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से की है। उन्होंने अपने अभिनय की शुरुआत दूरदर्शन के चर्चित टीवी सीरियल 'मुंगेरीलाल के हसीन सपने' से की थी। इसके बाद राजपाल यादव ने कई टीवी सीरियल्स में काम किया।

बॉलीवुड में उन्होंने अपने करियर की शुरुआत साल 1999 में फिल्म 'दिल क्या करे' से की थी। इस फिल्म में उन्होंने छोटा वॉचमैन का किरदार किया था जोकि बहुत छोटा किरदार था। इसके बाद राजपाल यादव ने 'जंगल', 'कंपनी', 'कम किसी से कम नहीं', 'हंगामा', 'मुझसे शादी करोगी', 'मैं मेरी पत्नी और वो', 'अपना सपना मनी मनी', 'फिर हेराफेरी', 'चुप चुपके' और 'भूल भुलैया' सहित कई शानदार फिल्मों में अपना बेहतरीन अभिनय दिखाया है।

अपने शानदार अभिनय की वजह से राजपाल यादव फिल्मफेयर सहित कई पुरस्कार हासिल कर चुके हैं। फिल्मों को अलावा राजपाल यादव विवादों की वजह से भी चर्चा में रह चुके हैं। वह जेल भी जा चुके हैं। दरअसल राजपाल यादव ने वर्ष 2010 में 'अता पता लापता' फिल्म के लिए दिल्ली के व्यवसायी से पांच करोड़ रुपये का कर्ज लिया था, लेकिन उन्होंने कर्ज की रकम नहीं लौटाई। दिल्ली के लक्ष्मी नगर स्थित श्री नौरंग गोदावरी इंटरटेनमेंट लिमिटेड कंपनी ने राजपाल यादव व अन्य के खिलाफ चेक बाउंस से जुड़ी सात अलग-अलग शिकायतें दर्ज कराई थीं। मामले में कड़कड़डूमा कोर्ट ने राजपाल यादव को कई नोटिस भेजे, लेकिन अदालत में पेश नहीं होने पर 2013 में उन्हें 10 दिन की न्यायिक हिरासत में भी भेज दिया गया था।

मामले में लंबे समय तक सुनवाई के बाद कड़कड़डूमा कोर्ट ने अप्रैल 2018 में राजपाल और उनकी पत्नी राधा को चेक बाउंस समेत सात मामलों में दोषी करार दिया था। राजपाल को छह साल की कैद और 10.40 करोड़ रुपये का जुर्माना की सजा सुनाई थी। अप्रैल 2018 के कड़कड़डूमा कोर्ट के फैसले को राजपाल ने हाई कोर्ट में चुनौती दी। हाई कोर्ट में मामले में समझौता हुआ और राजपाल यादव ने पूरी रकम चुकाने का वादा किया। राजपाल यादव ने जुर्माने के रूप में 2.40 करोड़ अदा भी कर दिए।

इसके बाद उन्होंने अगस्त में सुनवाई के दौरान अदालत से कहा कि उनका पासपोर्ट जब्त न किया जाए, क्योंकि उन्हें रुपये कमाने के लिए फिल्म शूटिंग के लिए विदेश भी जाना होता है। राजपाल ने कहा था कि वह बकाया आठ करोड़ रुपये एक साल में तीन-तीन महीने के अंतराल पर चार किश्त में चुका देंगे। इसी दलील पर हाई कोर्ट ने राजपाल यादव का पासपोर्ट जब्त करने से रोक लगाई थी। इसके बाद अदालत ने उन्हें जेल भेज दिया। 

Edited By: Anand Kashyap