नई दिल्ली। निर्देशक इंद्र कुमार की सेक्स-काॅमेडी फिल्म 'ग्रैंड मस्ती' को टेलीविजन पर प्रसारित करने के लिए आखिकार सेंसर बोर्ड ने हरी झंडी दिखा दी है। इस बात की जानकारी सेंसर बोर्ड ने कल दिल्ली हाईकोर्ट को दी। केंद्र सरकार और केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) की ओर से मुख्य न्यायाधीश जी रोहिणी और न्यायमूर्ति जयंत नाथ की पीठ के सामने दायर हलफनामे में यह जानकारी दी गयी।

कपिल शर्मा को अपनी पहली फिल्म से नहीं थी इसकी उम्मीद

बता दें कि पीठ टीवी पर इस फिल्म के टीवी प्रसारण पर बैन की मांग संबंधी एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही है। याचिका में याचिकाकर्ता इदारा गोपी चंद ने कहा है कि इस फिल्म को टीवी पर नहीं दिखाया जाना चाहिए, क्योंकि यह एक एडल्ट मूवी है। अब सेंसर बोर्ड ने 'ग्रैंड मस्ती' पर 218 बार कैंची चलाई है और इसे टीवी पर प्रसारण के लिए पुनर्प्रमाणित किया है।

दुनिया की 'सबसे बदसूरत महिला' की कहानी देखें अब बड़े पर्दे पर

बताया जा रहा है कि 218 कट लगने के बाद फिल्म की अवधि 135 मिनट से घटकर सिर्फ 98 मिनट रह गई है। दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले में सभी पक्षों की दलीलें सुन ली हैं, लेकिन अभी अपना फैसला नहीं सुनाया है। कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। इसलिए ये सवाल अब भी खड़ा है कि क्या 'ग्रैंड मस्ती' टीवी पर प्रसारित हो पाएगी?

देखें, 'सुल्तान' के लिए सलमान अभी से कैसे बहा रहे हैं जमकर पसीना

Posted By: Tilak Raj