नई दिल्ली, जेएनएन। कोरोना वायरस का कहर भारत में बढ़ता जा रहा है, जिसमें महाराष्ट्र के हालात काफी चिंता जनक है। महाराष्ट्र में मरीजों की संख्या लगातार तेज स्पीड से बढ़ती जा रही है, जिस वजह से महाराष्ट्र के कई शहर पूरी तरह रुके हुए हैं। इस वजह से ही फिल्म और टीवी की शूटिंग भी शुरू नहीं हुई है और फिल्म जगत को अरबों का नुकसान हो रहा है और आर्टिस्ट के सामने आर्थिक संकट आ रहा है। खास बात ये है कि अभी तक शूटिंग पर लगी रोक हटाने के लेकर कोई बातचीत भी नहीं हुई है, जिससे पता चल सके कि आखिर कब तक शूटिंग शुरू होने की उम्मीद है।

अब फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिनेमा एमप्लॉइज ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर मुंबई फिल्म इंडस्ट्री का काम शुरु करने की अनुमति मांगी है। मंगलवार को भेजे गए इस लेटर में मुख्यमंत्री से पोस्ट-प्रोडक्शन के काम को इजाजत देने के लिए कहा गया है। साथ ही लिखा है, 'अगर पोस्ट-प्रोडक्शन जैसे कामों के लिए अनुमति मिल जाती है तो कम से कम वर्कफ्रोस के साथ बंद स्टूडियो में काम किया जा सकता है और इससे बहुत राहत मिलेगी। लॉकडाउन खत्म होने के तुरंत बाद निर्माता अपने प्रोजेक्ट्स रिलीज करने को लिए तैयार रहेंगे।

FWICE के चीफ एडवाइजर अशोक पंडित ने पत्र में कहा है, 'अन्य अर्थव्यवस्था की तरह फिल्म इंडस्ट्री भी अभूतपूर्व आर्थिक संकट से गुजर रही है। हमें धीरे-धीरे काम करने के लिए वापस आना होगा, क्योंकि हम वायरस के चले जाने का इंतजार नहीं करेंगे। मुझे नहीं लगता कि यह जल्द ही जाने वाला है। हमें इसके चारों ओर अपना काम करना होगा।' दरअसल, करीब दो महीने से ज्यादा का वक्त हो गया है, जब से फिल्म शूटिंग बंद है।

इससे प्रोड्यूसर के प्रोजेक्ट अटके हुए हैं और उन्हें काफी नुकसान हो रहा है। इसके अलावा डेली वेजेज वर्कर्स और जूनियर आर्टिस्ट के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। हालांकि, फिल्म जगत के ही कई स्टार्स इन लोगों की मदद के लिए आगे आए हैं और उन्होंने FWICE के माध्यम से भी वर्कर्स तक अपनी मदद पहुंचाई है। अब देखना ये है कि कब से शूटिंग का काम चालू होता है और उसमें क्या क्या शर्ते सरकार की ओर से तय की जाती है।

Posted By: Mohit Pareek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस