मुंबई। जी हां, यह बात खुद इमरान हाशमी ने खुद जागरण डॉट कॉम से खास बातचीत करते हुए बताई। इमरान मानते हैं कि अब अॉडियंस का वर्ल्ड व्यू 10 सालों में बढ़ गया है। इमरान अपनी फिल्मों के लेकर बताते हैं कि, कई बार वो अपनी फिल्मों का डायरेक्ट रिएक्शन जानने के लिए अॉडियंस के साथ सिंगल थिएटर सिनेमा में बैठे हैं।  

इमरान एक वाकया बताते हैं जब उनकी फिल्म घनचक्कर आई थी। इमरान ने कहा कि, मैंने इस फिल्म को सिंगल थिएटर में अॉडियंस के साथ बैठकर देखा था। इस दौरान जब मुझे लोग फिल्म में मार रहे थे तब अॉडियंस का रिएक्शन देखने लायक था और मैं शॉक था। चूंकि अॉडियंस बोल रही थी कि इमरान भाई लोगों को मार क्यों नहीं रहे। तब मुझे समझ आया कि अॉडियंस को मेरा म्यूटेड कैरेक्टर पसंद नहीं आएगा। इमरान आगे बताते हैं कि, मल्टीप्लेक्स अॉडियंस और सिंगल थिएटर अॉडियंस में फर्क होता है। मल्टीप्लेक्स अॉडियंस ज्यादा रिएक्ट नहीं करती वहीं सिंगल थिएटर में जाने वाली अॉडियंस का रिएक्शन अच्छा होता है जिससे फिल्में के बारे में पता लगाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: पीरियड फिल्मों में एक्टर नहीं बल्कि रिसर्च और आर्ट डायरेक्शन टीम पर रहता है सबसे ज्यादा प्रेशर - इमरान

स्क्रिप्ट के सिलेक्शन पर बात करते हुए इमरान ने कहा कि, अाज टेलीविजन शो की राइटिंग बहुत अच्छी हो रही है। यूं कहे कि फिल्मों से भी ज्यादा अच्छी राइटिंग टीवी शोज़ की है। चूंकि पिछले 10 सालों में अॉडियंस का वर्ल्ड व्यू बदला है। अॉडियंस को आज वेस्टेनाइज़ चीजें नहीं देखनी क्योंकि वो तो उन्हें हॉलीवुड और वेब सीरिज या इंटरनेस के जरिए देखने को मिल रहा है। उन्हें ट्रेडिशनल, कल्चरल रिच फिल्में चाहिए। इसलिए मैं हमेशा स्क्रिप्ट को बड़े ध्यान से पढ़ने के बाद ही फाइनल करता हूं कि मैं इसके लिए काम करूंगा कि नहीं। इमरान यह भी कहते हैं कि, अॉडियंस का टेस्ट लगातार चेंज हो रहा है। अगर अॉडियंस के सामने वही पेश करेंगे जो होता आ रहा है तो वो इसे नकार देंगे। इसलिए जरूरी होता है कि हर काम में नयापन लाया जाए। 

यह भी पढ़ें: मुझे टाइपकास्ट किया गया था, इंडस्ट्री के लिए यह गैंबल की तरह था - इमरान हाशमी

आपको बता दें कि, हाल ही में रिलीज़ हुई फिल्म बादशाहो में इमरान हाशमी की अहम भूमिका थी। अब वो 2018 में आने वाली फिल्म कैप्टन नवाब की तैयारी में जुट गए हैं। यह भी पीरियड फिल्म है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021