मुंबई ब्यूरो। कहानी और बदला जैसी फिल्मों के निर्देशक सुजाय घोष की बेटी दीया अन्नपूर्णा घोष ने फिल्म बाब बिस्वास से निर्देशन में कदम रख दिया है। यह फिल्म वर्ष 2012 में रिलीज फिल्म कहानी की प्रीक्वल है। फिल्म में अभिषेक बच्चन प्रमुख भूमिका में हैं। बाब बिस्वास की कहानी सुजाय ने ही लिखी है। निर्देशन में आने को लेकर दीया कहती हैं, मैं कभी भी एक्टर नहीं बनना चाहती थी। बतौर निर्देशक आपके हाथों में क्रिएटिव चीजों को लेकर कंट्रोल रहता है। यही बात मुझे भाती है। मैंने फिल्म निर्देशन में कोर्स कर रखा है। इसके बाद अमिताभ बच्चन, तापसी पन्नू अभिनीत फिल्म बदला में मैंने अपने पिता को असिस्ट किया था। वहां से मुझे काफी कुछ सीखने को मिला था।

ऐसे लिखी थी "बॉब बिस्वास'

बाब बिस्वास की कहानी लिखने के लिए हम लोग कोलकाता गए थे। कहानी पापा ही लिखते थे, लेकिन मेरी उनसे बातचीत होती रहती थी। उन्होंने ही मुझे इस फिल्म के निर्देशन का आफर दिया था। चूंकि कहानी फिल्म में बाब बिस्वास के किरदार को काफी पसंद किया गया था तो इसे स्वीकार करने से पहले मैंने उसके बारे में सोचा। दरअसल, मैं उसमें विफल नहीं होना चाहती थी। इस फिल्म को लेकर अभिषेक से मेरी मुलाकात उनके घर पर हुई थी। मुझे पता था कि हम उनकी फिल्म के लिए मिल रहे हैं। वह बहुत सुलझे इंसान हैं। वह मुलाकात यादगार रही। सेट पर निर्देशक को सर कहकर संबोधित किया जाता है।

एक्टिंग में करियर नहीं बनाना चाहतीं अन्नपूर्णा घोष

दीया की यह पहली फिल्म है। इसमें सब सीनियर एक्टर हैं। ऐसे में उन्हें सेट पर सब क्या कहते थे? यह पूछने पर वह हंसते हुए कहती हैं कि यह बहुत कंफ्यूजिंग था। मैं सबको सर या मैम कहकर ही बुलाती आई हूं। मेरे लिए कुछ जगहों पर अजीब होता था। मेरी कोशिश हमेशा यही रही कि अपने वरिष्ठों का सम्मान करूं। यही हमें भारतीय मूल्यों के तहत सिखाया भी गया है। 

Edited By: Ruchi Vajpayee