मुंबई। ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी और धर्मेंद्र, बॉलीवुड के सबसे ख़ूबसूरत कपल्स में शामिल हैं। पर्दे पर दोनों ने कई हिट फ़िल्मों में काम किया है तो रियल लाइफ़ में भी इनकी प्रेम कहानी किसी फ़िल्मी पटकथा से कम नहीं है। धर्मेंद्र ने 8 दिसम्बर को अपना 83वां जन्म दिन मनाया तो यह दिन ड्रीम गर्ल के लिए भी बेहद स्पेशल है और उन्होंने अपनी भावनाओं का इज़हार सोशल मीडिया पर करने के साथ अपने धरम जी का जन्म दिन मनाया। 

हेमा ने ट्विटर पर धर्मेंद्र को जन्म दिन की शुभकामनाएं देते हुए लिखा है- ''मेरे सदाबहार प्यार, मेरी बेटियों के पिता और डैरियन और राध्या के नाना को जन्म दिन की बधाई। मैं अपने सभी फैंस का शुक्रिया अदा करती हूं, जिन्होंने धरम जी के जन्म दिन की बधाइयां मुझे भेजी हैं। मैं उनकी भावनाएं धरम जी तक ज़रूर पहुंचाऊंगी।''

जन्म दिन की बधाई देने के लिए हेमा धर्मेंद्र से मिलीं और उनका दिन स्पेशल बनाया। धर्मेंद्र को बुके दिया, मिठाई खिलाई और अपनी मोहब्बत का इज़हार किया।

हेमा मालिनी ने धर्मेंद्र के साथ अपनी रिलेशनशिप का ज़िक्र अपनी बायोग्राफी Hema Malini- Beyond The Dream Girl में विस्तार से किया है। हेमा कहती हैं- ''सच यह था कि मुझे भी नहीं पता था कि मैं चाहती क्या हूं। इतना पता था कि मैं उनकी तरफ़ आकर्षित थी, लेकिन इस रिश्ते का कोई भविष्य नहीं था। शुरुआत में, हम केवल अच्छे दोस्त थे। मुझे उनका साथ अच्छा लगता था।

हमने कई फ़िल्मों में साथ काम किया था। एक वक़्त था, जब हम साथ में कई दिनों तक नहीं, बल्कि हफ़्तों और महीनों तक साथ काम कर रहे थे। जल्द ही हमेशा एक-दूसरे के साथ रहना आदत सी हो गयी। वक़्त गुज़रने के साथ, यह समझाना मुश्किल हो गया कि मैं उनके लिए कैसा महसूस करती थी, और अभी भी रिश्ते को परिभाषित करना मुश्किल था। ईमानदारी से कहूं तो मैंने कभी उनसे शादी करने के बारे में नहीं सोचा था।''

 

हेमा आगे बताती हैं, ''मेरा इकलौता तर्क यही था कि मैं सोच-समझकर उनके प्यार में नहीं पड़ी थी। यह थोड़ा अजीब लगता है, लेकिन मैंने यह सोच रखा था कि जब भी शादी करूंगी तो उनके जैसे ही किसी शख़्स से करूंगी। लेकिन कभी उनके साथ होने के बारे में नहीं सोचा था। यह मेरी क़िस्मत और भाग्य था। मैगज़ीन हमारे अफेयर की कहानियों से भरी रहती थीं।

जर्नलिस्ट कुछ ना कुछ लिखते रहते थे, जिससे हमारे घर की शांति भंग होने लगी थी और तनाव बढ़ने लगा था। उस वक़्त मैंने जर्नलिस्ट से बात करना बंद कर दिया, क्योंकि इससे चीज़ें बिगड़ने लगी थीं। मेरे पिता इस सबसे घबरा गये और ज्योतिषियों और पंडितों से मशविरा करना शुरू कर दिया। वो जानना चाहते थे कि मेरी कुंडली में क्या है। मेरी शादी में देरी से वो चिंतित होने लगे थे, और इसी चिंता के चलते वो शूटिंग पर मेरे साथ जाने लगे। ऐसा उन्होंने अपने पूरे जीवन में कभी नहीं किया था।''

हेमा की भावनाएं धर्मेंद्र के लिए जैसे-जैसे मज़बूत होती जा रही थीं, उनके परिवार वाले चिंतित होने लगे थे। ख़ासकर उनके पिता, जो शूटिंग पर भी हेमा के साथ जाने लगे थे, ताकि धर्मेंद्र से उनकी नज़दीकी कम कर सकें बायोग्राफ़ी में इस पर हेमा बताती हैं, ''1975 में जब मैं रामानंद सागर की फ़िल्म चरस की शूटिंग कर रही थी, हम माल्टा में कई हफ़्तों तक रुके हुए थे। चूंकि मैं उनके (धर्मेंद्र) साथ शूटिंग कर रही थी तो मेरे पिता मेरे साथ आना चाहते थे। कास्ट और क्रू को कई बार एक साथ एक ही कार में ट्रैवल करना पड़ता था।

मेरे पिता इस सबसे ख़ुश नहीं थे। वो मुझे तमिल मैं निर्देश दिया करते थे, ताकि धरम जी ना समझ सकें। मैं एक छोर पर बैठती थी और पिता जी बीच में बैठते थे। लेकिन धरम जी कोई ना कोई बहाना बना लिया करते थे, जिससे मुझे बीच में बैठना पड़ता था, ताकि वो मेरे पास बैठ जाएं।''

हेमा बायोग्राफी में बताती हैं कि धर्मेंद्र से उनके परिवार को कई दिक्कत नहीं थी। जब वो नहीं होती थीं तो धर्मेंद्र के साथ उनके पिता काफ़ी बातें करते थे और अच्छा वक़्त गुज़ारते थे। धर्मेंद्र और हेमा मालिनी की प्रेम कहानी को लेकर बॉलीवुड में कई क़िस्से भी मशहूर हैं। कहा जाता है कि संजीव कुमार दीवानगी की हद तक हेमा से प्यार करते थे और शादी का प्रस्ताव लेकर उनके माता-पिता के पास भी गये थे, जिसे ठुकरा दिया गया। जीतेंद्र के बारे में भी कहा जाता है कि वो भी हेमा से शादी करना चाहते थे।

धर्मेंद्र और हेमा मालिनी के प्यार की आख़िरकार जीत हुई। 21 अगस्त 1979 को धर्मेंद्र ने धर्म और नाम परिवर्तन करके हेमा से निकाह कर लिया, ताकि उन्हें अपनी पहली पत्नी प्रकाश कौर को तलाक़ ना देना पड़े। उनके निकाहनामा में लिखा था- 

दिलावर ख़ान केवल कृष्ण (44 साल) 1,11,000 रुपये मेहर के साथ आयशा बी आर चक्रवर्ती (29 साल) को दो गवाहों की मौजूदगी में अपनी पत्नी स्वीकार करते हैं। 

1970 से 2011 तक धर्मेंद्र और हेमा मालिनी ने 33 फ़िल्मों में साथ काम किया है, जिनमें शोले, जुगनू, चरस, प्रतिज्ञा, सीता और गीता जैसी हिट फ़िल्में शामिल हैं। दोनों की पहली रिलीज़ फ़िल्म तुम हसीन मैं जवां है, जो 24 जुलाई 1970 को रिलीज़ हुई थी। भप्पी सोनी निर्देशित फ़िल्म को सचिन भौमिक ने लिखा था। धर्मेंद्र ने हेमा मालिनी के निर्देशन में 2011 में आयी फ़िल्म टेल मी ओ ख़ुदा में काम किया था, जो बेटी ईशा देओल के करियर को रिवाइव करने के लिए बनायी थी, मगर फ़िल्म फ्लॉप रही थी। 

धर्मेंद्र ने अपने सभी चाहने वालों का शुक्रिया अदा किया है। बर्थडे पर सोशल मीडिया में मिली बधाइयों ने धर्मेंद्र को इमोशनल कर दिया है। उन्होंने लिखा है कि अपने फैंस का प्यार उनकी आंखों में दिखता है। मैं सिर्फ़ आपके प्यार की वजह से एक्टर बनना चाहता था।

Posted By: Manoj Vashisth