अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। धर्मेंद्र की होम प्रोडक्शन कंपनी के माध्यम से ही कभी सनी देओल और बॉबी देओल लांच हुए थे. अब बारी सनी के बेटे करन देओल की लांचिंग की है. सनी ही उन्हें फिल्म पल पल दिल के पास फिल्म से लांच कर रहे हैं.

हाल ही में जब धर्मेंद्र से फिल्म यमला पगला दीवाना के प्रोमोशन के दौरान बातचीत हुई और यह पूछा अब देओल परिवार की एक और जेनरेशन तैयार है. ऐसे में उन्होंने अपने पोते को इंडस्ट्री में आने के लिए क्या सलाह दी है? धर्मेंद्र इस पर कहते हैं कि “मैं अपने बाप की सलाह पर इस इंडस्ट्री में नहीं आया था. मेरे बाप को लगता था कि फिल्म इंडस्ट्री गंदी जगह है. इसको बहुत अजीब समझते थे. लड़कियों को भी नहीं आने देते थे.तो बच्चे बाप की सलाह पर नहीं जाते हैं. मैंने भी बॉबी और सनी को कभी कोई सलाह नहीं दी थी. मेरा मानना रहा है शुरू से कि उसमें जो भी पनपता है, उसमें पनपने दो और उसे खुद ही आगे बढ़ने दो. मैंने वैसे ही खुद को आगे बढ़ाया था. उनको भी ऐसे ही आगे बढ़ाना है. मुझे पता है कि इस करियर में अप्स एंड डाउन रहा है. मैंने भी जिंदगी में ये सब देखा है और इसके बिना जिंदगी का मजा भी नहीं है, तो करन को भी अपनी राह तय करनी ही है. इन सबसे गुजरना ही है”.

धर्मेंद्र कहते हैं कि जब मैं शुरू में मुंबई आया था तो पैसे तो नहीं होते थे. पैदल चलता था. कई मीलों तक . जूहू तो उस वक्त पूरा खेत हुआ करता था. तब मैं लोगों को देखता था. बड़ी होटलों को देख सोचा करता था, कि एक वक्त मेरा भी आयेगा, जब मैं खुद इतने पैसे कमा लूंगा कि ऐसे ही बड़े रेस्टोरेंट में कॉफी पीया करूंगा. बड़ी कार खरीदूंगा . यह सब पूरा हुआ. मैंने मेहनत की तो जगह बनाई. धर्मेंद्र आगे कहते हैं कि मैंने दिलीप साहब से बहुत मोहब्बत करता हूं और मैंने दिलीप साहब को देख कर ही फिल्मों का रुख किया था.

यह भी पढ़ें: Teaser: अखंड भारत के पहले बाग़ी की कहानी, आ रहा है एक और बाहुबली

Posted By: Manoj Khadilkar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस