अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। दीपिका पादुकोण इन दिनों अपनी फिल्म पद्मावत की सफलता का जश्न मना रही हैं। इसी क्रम में उन्होंने मीडिया से इनफॉर्मल बातचीत में यह स्वीकारा कि उन्हें इस बात का कभी भी डर नहीं था, या कोई संदेह नहीं था कि फिल्म रिलीज़ होगी या नहीं होगी। वह हमेशा से जानती थीं कि अंत में जीत सही की ही होती है।

दीपिका ने यह भी शेयर किया कि उनके पैरेंट्स ने उन्हें हमेशा से उनका साथ दिया और उन्होंने कभी दीपिका को पीछे हटने के लिए प्रेरित नहीं किया, बल्कि दूसरी तरफ उनका हौसला बढ़ाया। चूंकि वह यह बात जानते थे कि उनकी बेटी अकेले सब कुछ संभाल लेंगीं। साथ ही दीपिका ने बताया कि उनके पेरेंट्स ने मेरी फिल्म देखने के बाद मेरी तरफ देखा और कहा उन्हें यकीन ही नहीं हो रहा है कि उनकी बेटी जो बगल में बैठी हुई है, वह वही दीपिका हैं, जो परदे पर पद्मावती बनी हैं। दीपिका कहती हैं कि मेरी अपब्रिंगिंग ऐसी रही है कि मेरे पापा स्पोर्ट्स बैकग्राउंड से हैं और यही वजह है कि दीपिका का विल पावर हमेशा स्ट्रांग रहा है। फिर वह किसी भी तरह की बातों से घबराती नहीं हैं। दीपिका कहती हैं कि यह पूरी जर्नी आसान नहीं थी। लेकिन तीन साल के इस स्ट्रगल के बाद तीन दिनों में जो उन्हें तारीफें मिल रही हैं, वह कमाल हैं। उसका कोई भी जवाब नहीं है।

आपको बता दें कि, पद्मावत की शूटिंग से लेकर रिलीज़ तक विवाद चल रहा था। आखिरकार पद्मावत को 25 जनवरी को रिलीज़ किया गया। बॉक्स अॉफिस पर पद्मावत अभी तक सफल रही है। संजय लीला भंसाली निर्देशत पद्मावत में दो बड़े बदलाव किए गए थे। पहला तो नाम बदला गया और दूसरा इसके प्रसिद्ध गाने में वीएफएक्स के जरिए बदलाव किए गए।  

Posted By: Rahul soni

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस