नई दिल्ली, जेएनएन। छपाक की रिलीज़ से पहले जेएनयू दौरे को लेकर ट्रोलिंग का शिकार हुईं दीपिका पादुकोण एक बार फिर निशाने पर हैं। इस बार वजह बना है उनका टिकटॉक वीडियो। इस वीडियो में दीपिका कुछ ऐसा करती दिखती हैं कि लोग उन्हें असंवेदनशील कह रहे हैं। 

दरअसल, वीडियो में दीपिका एक टिकटॉक इंफ्लूएंसर के साथ दिख रही हैं। वीडियो में साथ मौजूद महिला से वो अपनी फ़िल्मों के तीन लुक मेकअप के ज़रिेए क्रिएट करने को कहती हैं। इनमें एक उनकी डेब्यू फ़िल्म ओम शांति ओम, दूसरा पीकू और तीसरा छपाक की मालती का है। लोगों को इसी बात पर एतराज़ है कि एसिड अटैक सर्वाइवर के लुक को ऐसे कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है। एक यूज़र ने लिखा है- एसिड अटैक मेकअप?? इससे ज़्यादा नीचे गिरने वाली बात क्या हो सकती है। आपको शर्म आनी चाहिे दीपिका।

एक अन्य यूज़र ने लिखा है- अब एसिड अटैक वाला चेहरा चैलेंज बन गया है। प्रमोशन का इससे अधिक बुरा तरीका नहीं हो सकता। दीपिका शर्म आनी चाहिए। एक यूज़र ने लिखा कि छपाक के लिए दीपिका का मेकअप चैलेंज के साथ दिक्कत यह है कि उन्होंने इसे बस अपना एक लुक मान लिया और इसके पीछे के दर्द को भूल गयीं। उन्होंने साबित कर दिया कि उनके लिए यह बस मेकअप भर था। वो उस दर्द को बिल्कुल नहीं समझतीं, जिससे सर्वाइवर गुज़रते हैं। 

मेघना गुलज़ार निर्देशित छपाक एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी है, जिन पर 2005 में एसिड फैंका गया था। अपनी इस पहली होम प्रोडक्शन फ़िल्म में दीपिका ने लक्ष्मी पर आधारित किरदार मालती प्ले किया है। फ़िल्म का विषय बेहद संवेदनशील है और इसको लेकर वो प्रमोशन के दौरान बातें करती रही हैं। छपाक के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में भी दीपिका भावुक हो गयी थीं और स्टेज पर ही उनकी आंखें नम हो गयी थीं। शायद इसीलिए लोगों को दीपिका की यह हरकत असंवेदनशील लग रही है। 

बॉक्स ऑफ़िस की बात करें तो छपाक ने अब तक लगभग 30 करोड़ का नेट कलेक्शन कर लिया है। फ़िल्म को जेएनयू विज़िट के बाद काफ़ी विरोध का सामना करना पड़ा है।