नई दिल्ली। एक समय था जब दलेर मेहंदी की बुलंद आवाज ने बॉलीवुड में धूम मचा रखी थी। हर दूसरी फिल्म में उनका कोई ना कोई गाना सुनने को मिल ही जाता था। लेकिन पिछले कुछ सालों से उनकी आवाज बॉलीवुड फिल्मों में बेहद कम सुनाई देती है। पिछले साल तो उन्होंने सिर्फ एक गाना 'वंदे मातरम' फिल्म 'एबीसीडी 2' के लिए रिकॉर्ड किया था। इस साल दलेर मेहंदी की आवाज राकेश ओमप्रकाश मेहरा की फिल्म 'मिर्जिया' में सुनाई देगी।

दलेर मेहंदी ने आखिर हिंदी फिल्मों में गाना कम क्यों कर दिया है? इस राज से पर्दा दलेर मेहंदी ने हाल ही में उठाया। उन्होंने बताया, 'ऐसा नहीं है कि मैं बॉलीवुड फिल्मों के लिए गाना नहीं गाना चाहता, लेकिन मैं अपने सम्मान के साथ समझौता नहीं कर सकता। दरअसल, मैं कोई ऐसा गाना नहीं रिकॉर्ड करना चाहता, जिसे 10 और लोग भी गा सकते हैं। मुझे ऑप्शन पसंद नहीं है।'

इसे भी पढ़ें: ओम प्रकाश मेहरा के फिल्म सेट पर रख लिए जाते हैं सभी के फोन

राकेश ओमप्रकाश मेहरा कि 'रंग दे बसंती' और 'भाग मिल्खा भाग' में भी दलेर मेहंदी ने गाना गाया था। अब 'मिर्जिया' के लिए भी उन्होंने एक सॉन्ग रिकॉर्ड किया है। दलेर कहते हैं, 'राकेशजी के साथ मेरा रूह का रिश्ता है। हम एक-दूसरे के बारे में बहुत कम जानते हैं, लेकिन हमेशा पूरी गर्मजोशी के साथ मिलते हैं। वह मेरे काम पर विश्वास करते हैं। राकेशजी का मानना है कि मेरी तरह कोई दूसरा नहीं गा सकता है।'

फिल्म 'दंगल' और 'बाहुबली 2' के लिए भी दलेर मेहंदी ने गाने गाए हैं। उन्होंने बताया, 'जब मिर्जिया के गाने के लिए आलाप गाया, तो गुलजार साहब, शंकर महादेवन और राकेशजी की आंखों में आंसू आ गए। मैंने ऐसे-ऐसे गाने गाए हैं, जिन्हें गाने बारे में दूसरे सिंगर सोच भी नहीं सकते हैं। पिछले चार सालों में कई सिंगर आए और गए, लेकिन मेरा सिंगिंग स्टाइल मेरी यूएसपी है।'

एक रुपये लेकर सुनाते थे गाना, डाकू से प्रेरित है नाम, जानिए दलेर मेंहदी के बारे में...

Posted By: Tilak Raj