नई दिल्ली, जेएनएन। कोरोना वायरस कोविड 19 के प्रकोप से बचने के लिए चल रहे लॉकडाउन में बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ ज़रूरतमंदों की मदद करने के लिए आगे आ रहे हैं। अक्षय कुमार ने जहां पीएम केयर्स फंड को 25 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है। वहीं, सलमान ख़ान ने फ़िल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले 25 हज़ार डेली वेज वर्कर्स की मदद करने का बीड़ा उठाया है। सलमान के इस फ़ैसले की सोशल मीडिया में जमकर तारीफ़ हो रही है। वहीं, पिता सलीम ख़ान की भी प्रतिक्रिया सामने आयी है।

पिछले 10 दिनों से हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले दिहाड़ी कर्मचारियों की मदद की अपील की जा रही थी। सलमान ख़ान से सभी को काफ़ी उम्मीदें भी थीं, जिन पर दबंग ख़ान खरे उतरे हैं। इंडस्ट्री में लगभग 25 हज़ार डेली वेज वर्कर्स हैं।

सलमान ने इन सभी की मदद करने का फ़ैसला किया है। मिड-डे से बात करते हुए वेटरन राइटर सलीम ख़ान ने कहा- मैं अभी इस पर कुछ कमेंट नहीं करना चाहता, क्योंकि इसके बारे में मुझे ज़्यादा पता नहीं है। हमारे परिवार का यह मक़सद रहा है- हमारा पैसा जहां जाए, दिखना चाहिए और किसी के काम आना चाहिए। पिछले दो हफ़्तों से हम हमारी बिल्डिंग और सलमान के सिक्योरिटी गार्ड्स के लिए खाने का इंतज़ाम कर रहे हैं। हम सबको अपने स्टाफ की मदद करनी चाहिए। 

यह भी पढे़: नाना पाटेकर ने पीएम-सीएम फंड में योगदान के साथ दी काम की नसीहत

रिपोर्ट में सूत्र के ज़रिए बताया गया है कि सलमान ख़ान फ़िल्म्स में काम करने वाले लोगों को मार्च के मध्य में ही पूरे महीने की सैलरी दे दी गयी थी। स्टूडियो में जिन लोगों को सख़्त ज़रूरत है, उनकी राशन से मदद की जा रही है।

FWICE के महासचिव अशोक दुबे ने इस बीच खुलासा किया कि शनिवार को सलमान की कम्पनी के एक बड़े अधिकारी ने सम्पर्क करके डेली वेज वर्कर्स की जानकारी मांगी है। मैंने उन्हें बताया कि हर कर्मचारी औसतन 15 हज़ार रुपये महीने कमा लेता है। सलमान सभी 25 हज़ार कर्मियों के खातों की जानकारी चाहते हैं, जिन्हें वो स्पॉन्सर करेंगे। इसके अलावा सलमान हर महीने लगभग 5 लाख रुपये की मदद इन वर्कर्स के मेडिकल पर खर्च करते हैं। 

बता दें कि इस ईद पर सलमान ख़ान की फ़िल्म राधे रिलीज़ होने वाली है। अभी तक इसी रिलीज़ डेट में बदलाव की कोई जानकारी नहीं दी गयी है।

Posted By: Manoj Vashisth

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस