नई दिल्ली, जेएनएन। दीपिका पादुकोण और उनकी फ़िल्म 'छपाक' से विवादों का नाता टूट ही नहीं रहा है। पहले स्क्रिप्ट को लेकर एक लेखक ने केस दर्ज कराया। इसके बाद दीपिका पादुकोण जेएनयू में गईं और उनको लोगों का विरोध झेलना पड़ा। रिलीज़ के बाद टिक-टॉक वीडियो पर विवाद खड़ा हुआ। इसके बाद एक बार फिर फ़िल्म छपाक विवादों में घिरती नजर आ रही है। एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की वकील अपर्णा भट्ट ने वापस कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है। 

वकील अपर्णा भट्ट ने दिल्ली हाई कोर्ट में छपाक के मेकर्स के खिलाफ़ कोर्ट की अवमानना की याचिका दाखिल की है। उन्होंने कोर्ट को बताया है कि आदेश के बावजूद फ़िल्ममेकर्स और एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण उन्हें क्रेडिट नहीं दे रहे हैं।  याचिका में फिल्म के निर्माताओं के खिलाफ उच्च न्यायालय के आदेश का पालन न करने के लिए अवमानना की कार्रवाई शुरू करने की मांग की गई है। इससे पहले कोर्ट ने मेकर्स को लॉयर अपर्णा को उचित श्रेय देने का निर्देश दिया था। 

आईएएनएस न्यूज़ एजेंसी से बात करते हुए लक्ष्मी की वकील अपर्णा भट्ट ने याचिका दाखिल करने के पीछे की वजह बताई। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्क्रीनिंग में उन्हें (अपर्णा) क्रेडिट नहीं दिया गया है। हालांकि, अपर्णा ने बताया कि भारत में दिखाई गई फ़िल्म के दौरान उनको क्रेडिट दिया गया था।

इससे पहले अपर्णा भट्ट ने पटियाला हाउस अदालत में क्रेडिट को लेकर केस दायर किया था। उन्होंने दावा किया था कि फिल्म निर्माताओं ने उनकी मदद ली, लेकिन उन्हें फिल्म में श्रेय नहीं दिया। पटियाला हाउस कोर्ट ने वकील के पक्ष में फैसला सुनाया था। इसके बाद मेकर्स दिल्ली हाईकोर्ट गए। दिल्ली हाईकोर्ट ने भी उनके पक्ष में फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा कि 15 जनवरी तक फिल्म की स्लाइड में जरूरी बदलाव किए जाएं। अब मामला एक बार फिर दिल्ली हाईकोर्ट पहुंच गया है।