मुंबई। अपने बेबाक अंदाज़ और उसी तरह के किरदारों को चुन कर काम करने वाली राधिका आप्टे ने कहा है कि वो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म आज की सबसे बड़ी जरुरत है और वो इसे अपने लिए एक नशा मानती हैं।

राधिका ने ये बात जागरण डॉट कॉम के स्पेशल वीडियो शो ‘लाइट्स कैमरा एक्शन’ में कही। एंटरटेनमेंट एडिटर पराग छापेकर के साथ उन्होंने अपने करियर से बीती और आने वाली कई बातों का ख़ुलासा भी किया है। इस पूरी बातचीत को आप यहां इस वीडियो के जरिये देख सकते हैं –

तमिलनाडु में पैदा हुई और मराठी-कोंकणी फिल्म घो मला असला हवा से अपना करियर शुरू करने वाली राधिका आप्टे इन दिनों वेब सीरीज़ के कारण काफ़ी चर्चा में हैं। लस्ट स्टोरीज़ और घूल में नज़र आ चुकीं राधिका ने डिजिटल मीडिया को आज की लाइफ़ का अहम् हिस्सा बताते हुए कहा कि उन्हें भी नेटफ्लिक्स का नशा है और वो हर रोज़ उससे जुड़ी ही रहती हैं।

राधिका मानती हैं कि डिजिटल मीडिया पर सब कुछ मिलता है। इसे नियम कानून के दायरे में नहीं बांधा जा सकता। बच्चों पर इसका गलत असर पड़ने की बात भी बेबुनियाद है। वो फिल्में देखकर बुरी बातें या गाली नहीं सीखते। उन्हें सब पहले से पता होता है। राधिका का मानना है कि बच्चों के सामने सिगरेट पीते रहो और सिनेमा के परदे पर सिगरेट मत पियो जैसे नियम ढ़कोसला हैं। राधिका ने कहा कि वो हर स्क्रिप्ट को पूरा समय लेकर और दिमाग खोलकर पढ़ती हैं लेकिन कुछ ऐसे फिल्माकर हैं जिनसे कभी सवाल नहीं पूछतीं।

राधिका ने कहा कि जब उन्होंने एक्टिंग करने की सोची थी तब इस बात को ध्यान में रखा था कि उसे वो सारे किरदार परफॉर्म करने मिलेंगे। जब दूसरे कोई किरदार करते थे तो पहले लगता था कि मैं वो क्यों नहीं कर रही? पर जो कर रहे हैं वो भी तो डिज़र्व करते हैं। राधिका ने कहा कि वो अपने आप को अभी भी डिफाइन नहीं करना चाहती क्योंकि हर दिन बदलाव होता रहता है, नई नई चीजें आपके साथ जुड़ती जाती हैं।

राधिका को आलोचना भी मिली है और उन्हें नकारा भी गया है लेकिन उनका मानना है कि इस सब से तो हमें हमेशा ही लड़ना है। राधिका जल्द ही आयुष्मान खुराना के साथ अंधाधुन और सैफ़ अली खान के साथ बाज़ार में भी नज़र आएंगी। उनकी दो हॉलीवुड फिल्में भी आने वाली हैं।

यह भी पढ़ें: लाइट्स कैमरा एक्शन: फिल्म के प्रमोशन से काजोल को क्यों होती है चिढ़

Posted By: Manoj Khadilkar