मुंबई। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी का 16 अगस्त को दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। 93 साल के बाजपेयी पिछले कई दिनों से एम्स में भर्ती थे और लाइफ़ सपोर्ट सिस्टम पर थे। 17 अगस्त को उन्हें नम आंखों के साथ अंतिम विदाई दी गयी। 

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से ना सिर्फ़ सियासत के जगत में खलबली मच गयी है, बल्कि फ़िल्मी दुनिया भी स्तब्ध है। भारतीय राजनीति के आकाश में बहुत कम ऐसे नेता चमके हैं, जिन्हें वाजपेयी जैसा सम्मान हासिल हुआ हो। पक्ष हो या विपक्ष अटल बिहारी वाजपेयी को हर छोटे-बड़े नेता का सम्मान मिला। ओजस्वी वक्ता और कवि अटल जी के जाने से भारतीय राजनीति का ऐसा सितारा चला गया है, जिसकी कमी कभी पूरी नहीं हो सकेगी। दशकों से सियासत को अपने विचारों से अमीर बनाते रहे अटल जी का बॉलीवुड से भी सीधा कनेक्शन नहीं रहा है, लेकिन उनके व्यक्तित्व ने सितारों को भी अपनी तरफ़ आकर्षित किया था।

हिंदी सिनेमा के तमाम सितारे उनके प्रति अपना प्यार और सम्मान ज़ाहिर करते रहे हैं। सियासत में जाने वाले फ़िल्म कलाकारों के ज़रिए अटल जी ज़रूर फ़िल्मों से जुड़े रहे। ऐसा ही एक क़िस्सा काफ़ी मशहूर है। मथुरा से बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने बताया था कि अटल जी उनके बहुत बड़े फ़ैन थे। 1972 में आयी उनकी फ़िल्म सीता और गीता को अटल जी ने 25 बार देखा था। 

यह फ़िल्म उन्हें काफ़ी पसंद थी। मगर, जब हेमा मालिनी से अटल जी की मुलाक़ात हुई तो वो पहली बार बात करने में हिचकिचा रहे थे। तब किसी ने हेमा को बताया कि अटल जी उनके फ़ैन हैं, इसलिए हिचकिचा रहे हैं। 

अटल बिहारी वाजपेयी का किरदार अब दिसम्बर में रिलीज़ हो रही फ़िल्म द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर में दिखायी देगा, जिसमें अनुपम खेर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के किरदार में हैं। इस फ़िल्म में अनुपम खेर मनमोहन सिंह के रोल में हैं, जबकि एक्टर राव अवतार भारद्वाज अटल बिहारी वाजपेयी का किरदार निभाते हुए दिखेंगे। यह फ़िल्म संजय बारू की किताब पर आधारित है। फ़िल्म क्रिसमस के मौक़े पर रिलीज़ होती है और इत्तेफ़ाक़ से तभी वाजपेयी जी का जन्म दिन मनाया जाता है।

Posted By: Manoj Vashisth