मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मुंबई। दिसंबर की 14 तारीख़ बॉलीवुड के इस लीजेंड एक्टर, डायरेक्टर, प्रोड्यूसर राजकपूर के जन्मदिन के लिए भी जानी जाती है। शोमैन के नाम से मशहूर राजकपूर ने 10 साल की उम्र से अपना फ़िल्मी सफर शुरू कर दिया और उसके बाद अपने अंतिम सांस तक फ़िल्मों से जुड़े रहे।

एक 'अनाड़ी', एक 'आवारा', एक 'छलिया' से शोमैन बनने तक का सफर आसान नहीं था। पिता पृथ्वीराज कपूर उस दौर के जाने-माने थियेटर आर्टिस्ट थे, वे चाहते तो राजकपूर को कहीं भी आसानी से ब्रेक मिल सकता था। पर, उन्होंने राज को अपने दम पे कुछ करने की नसीहत देकर मुक्त कर दिया। एक बार राज कपूर को उनके एक डायरेक्टर ने थप्पड़ भी रसीद दिया था। आपको बता दें, राज कपूर ने इंडस्ट्री में अपने करियर की शुरुआत एक क्लैपर बॉय के तौर पर की थी। यह फ़िल्म किदार शर्मा डायरेक्ट कर रहे थे। शूटिंग चल ही रही थी कि एक बार किदार शर्मा ने राज कपूर को जोरदार थप्पड़ लगाया। हुआ यह था कि राज सीन के वक्त हीरो के इतने करीब आ गए थे कि क्लैप देते ही हीरो की दाढ़ी क्लैप में फंस गई थी।

यह 'अनाड़ी' करता था 'खलनायक' की मां से प्यार

गौरतलब है कि राज कपूर ने अपने बैनर 'आरके फ़िल्म्स' की शुरुआत 1948 में की थी। जिस बैनर के तले बनी पहली फ़िल्म थी 'आग'। जिसमें राज ने एक्टिंग भी की थी और उनकी हीरोइन थी नरगिस, उनकी पसंदीदा अभिनेत्रियों में से एक ।

Posted By: Hirendra J

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप