नई दिल्ली, जेएनएनl फिल्म अभिनेत्री भूमि पेडणेकर ने एक इंटरव्यू में कहा है कि समाज में आज भी गोरी लड़कियों के लिए पागलपन हैंl फिल्म बाला में भूमि पेडणेकर एक गहरे रंग की लड़की के तौर पर नजर आएंगीl भूमि कहती है कि उन्होंने इस भूमिका का चुनाव इसलिए किया है क्योंकि वह इसके माध्यम से सीधे सामाजिक पूर्वाग्रह के खिलाफ एक मजबूत आवाज उठाने और सामाजिक परिवर्तन की दिशा में काम करना चाहती है।

भूमि पेडणेकर आज बॉलीवुड की सबसे युवा अभिनेत्री में से एक हैंl उनके फिल्मों का चयन उन्हें अलग बनाता है। भूमि ने हर फिल्म में खुद को भूमिका के अनुसार ढाला है और वह किरदार बनी है जो उन्हें सौंपा गया था।

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

काली साड़ी wali tera naam toh bata 😉🖤 . . #PatiPatniAurWoh #Stylefile #hello #love #beautyinblack

A post shared by Bhumi✨ (@bhumipednekar) on

इस बारे में बताते हुए भूमि कहती है, ‘समाज में समता को बढ़ावा देने का यह मेरा तरीका है। मैं अपनी पहली फिल्म दम लगा के हईशा से ही सामाजिक समानता के बारे में बात करती आई हूंl इस फिल्म में मैं एक खूबसूरत, आत्मविश्वास से भरी, कम उम्र की लड़की की भूमिका निभा रही थी, जो अपने मोटापे में भी सहज थी लेकिन वह तब टूट गई और पहली बार उसके दिल को चोट लगी, जब उसे पता चलता है कि वह जिस आदमी से प्यार करती है वह उसे प्यार नहीं करता है लेकिन वह बहुत मजबूत है और वह उसमें बदलाव लाती है।

इस बारे में आगे बताते हुए भूमि कहती है, 'मैं फिल्म बाला में भी कुछ ऐसा ही कर रही हूंl इसमें मैं एक सांवली लड़की की भूमिका निभा रही हूं। मैं सोशल एक्टिविस्ट नहीं हूंl मुझे बस लोगों की परवाह है। मैं ऐसी महिला हूं जो वास्तव में एक बदलाव लाना चाहती है।’ इसके बाद भूमि ने यह भी कहा कि आज भी समाज में लोगों का गोरे रंग की लड़कियों को देखने का अलग नजरिया हैंl इससे महिलाओं का वस्तुकरण किया जाता हैंl मैं मानती हूं कि फिल्मों के माध्यम से हम लोगों में बदलाव ला सकते है और मैं ऐसे असामाजिक विषयों के खिलाफ निरंतर आवाज उठाती रहूंगीl'

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप