नई दिल्ली, जेएनएन। कास्टिंग काउच का मुद्दा अक्सर बॉलीवुड में गूंजता रहता है। तमाम एक्ट्रेसेज़ ने अपने संघर्ष के दौरान ऐसी घटनाओं के बारे में बताया है, जिनमें किसी प्रोड्यूसर या डायरेक्टर ने फ़िल्म में रोल देने के बदले उनसे आपत्तिजनक काम करने की पेशकश की थी। अब ज़रीन ख़ान ने ऐसा ही किस्सा सुनाकर सनसनी मचा दी है। मगर, इससे पहले और भी कई एक्ट्रेसेज़ ने जिन्होंने कास्टिंग काउच को लेकर अपने अनुभव सुना चुकी हैं। 

विद्या बालन

कुछ दिनों पहले विद्या बालन ने बताया कि वो एक निर्देशक से मिलने चेन्नई गयी थीं। उसने बातचीत करने के लिए कमरे में बुलाया। विद्या ने बताया कि उन्होंने दरवाज़ा खुला छोड़ दिया था। कुछ देर बाद वो निर्देशक चला गया। तब विद्या को अहसास हुआ कि वो कास्टिंग काउच से बाल-बाल बचीं। 

कल्कि कोचलिन

कल्कि कोचलिन ने भी एक बातचीत में स्वीकार किया था कि कास्टिंग काउच बॉलीवुड में होता है। टाइम्स ऑफ़ इंडिया में कल्कि ने कहा था कि वो ख़ुद भी इसकी गिरफ़्त में आते-आते बचीं। जैसे ही मुझे अनकम्फर्टेबल लगता था, मैं निकल जाती थी। कल्कि कहती हैं कि कास्टिंग काउच उभरते हुए कलाकारों के लिए सफलता का रास्ता बिल्कुल नहीं है। 

राधिका आप्टे

एक वेबसाइट से बात करते हुए राधिका आप्टे ने भी कहा था कि उन्हें कास्टिंग काउच की कई घटनाएं मालूम हैं। हालांकि उन्हें ख़ुद कभी इसका सामना नहीं करना पड़ा। एक बार एक दक्षिण भारतीय कलाकार ने उनके साथ फ्लर्ट करने की कोशिश की थी, मगर उन्होंने भाव नहीं दिया। बाद में उसने उनसे लड़ने की कोशिश भी की। राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार विजेता एक्ट्रेस ऊषा जाधव एक डॉक्यूमेंट्री में ऐसा ही किस्सा सुना चुकी हैं, जब फ़िल्म के बदले में उनके सामने अश्लील प्रस्ताव रखा गया था। 

श्री रेड्डी

दक्षिण भारतीय फ़िल्मों की एक्ट्रेस श्री रेड्डी तो कास्टिंग काउच के ख़िलाफ़ टॉपलेस प्रदर्शन भी कर चुकी हैं। उन्होंने फ़िल्म चैम्बर पर ऐसे मामलों में चुप्पी साधने का आरोप लगाते हुए हैदराबाद फ़िल्म चैम्बर के बाहर धरना दिया था।श्री ने यौन शोषण करने वालों के नाम बताने की धमकी भी दी थी।

Posted By: Manoj Vashisth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप