नई दिल्ली, जेएनएन। आर्यन खान क्रूज ड्रग्स मामले में अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया हैl इसके चलते अब आर्यन खान की बेल पर सुनवाई 20 अक्टूबर को होगीl वहीं कोर्ट ने यह भी कहा कि वह 20 अक्टूबर को सुबह फैसला देने का प्रयास करेगीl आर्यन खान को 20 अक्टूबर तक अब जेल में रहना होगाl आर्यन खान की जमानत याचिका पर बहस बहुत लंबी चली हैl कोर्ट ने कम समय होने की भी बात कही हैl आर्यन खान के वकील का कहना है कि आर्यन खान के पास कोई ड्रग्स नहीं मिला हैl इसके चलते उन्हें जमानत दी जानी चाहिएl वहीं, एनसीबी के वकील ने इस बात का विरोध किया हैl

फिल्म अभिनेता शाह रुख ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान इस वक्त मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने आर्यन को ड्रग्स केस के सिलसिले में गिरफ्तार किया हुआ है। आज इस मामले पर कोर्ट में फिर सुनवाई चल रही है। आर्यन की ज़मानत के लिए उनके वकील अब तक कई बार ज़मानत की अर्जी डाल चुके हैं, लेकिन या तो वो अर्जी ख़ारिज हो जाती है या फिर सुनवाई किसी न किसी वजह से टाल दी जाती है। अब आज सबकी निगाहें एक बार फिर कोर्ट के फैसले पर टिकी हुई हैं :

* आर्यन के ड्रग्स केस की सुनवाई मुंबई के सेशंस कोर्ट में चल रही है। अगर आज भी आर्यन की ज़मानत अर्जी नामंज़ूर कर दी जाती है तो अगले पांच दिन आर्यन को ज़मानत नहीं मिलेगी, क्योंकि 15 अक्टूबर से लेकर 19 अक्टूबर तक सेशंस कोर्ट की छुट्टी रहेगी। तो अगर आज शाह रुख खान के बेटे रिहा नहीं हुए तो उन्हें अगले पांच दिन आर्थर रोड जेल में ही रहना पड़ेगा।

*  आर्यन ख़ान के वकील उन्हें ज़मानत दिलाने के लिए कोर्ट में अपना पक्ष रहे हैं। आर्यन के वकीलों की पूरी कोशिश है कि आज उन्हें ज़मानत मिल जाए, क्योंकि आज अगर आर्यन को ज़मानत नहीं मिली तो अगले कुछ दिन आर्यन के लिए मुश्किल हो सकते हैं।

* आर्यन खान और 5 अन्य आरोपियों को कोविड टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद कॉमन सेल में शिफ्ट कर दिया गया है। पहले इन्हें अलग बैरक में रखा गया था। ये जानकारी आर्थर रोड जेल के अधीक्षक नितिन वायचल ने मीडिया को दी है।

आपको बताते चलें कि 13 अक्टूबर को आर्यन की ज़मानत अर्जी पर सेशंस कोर्ट (NDPS Court) में सुनवाई हुई थी, लेकिन अंत में सुनवाई को आज यानी 14 अक्टूबर तक के आगे बढ़ा दिया गया था। आर्यन के वकील अमित देसाई ने कल कोर्ट में आर्यन का पक्ष रखते हुए कहा था 'वह अभी जवान हैं। कई देशों में ऐसे पदार्थ लीगल हैं। हमें जमानत दे दी जाए। उन्हें और प्रताड़ित न किया जाए। वे लोग पहले ही बहुत कुछ झेल चुके हैं। उन्होंने अपना सबक सीख लिया है। वो लोग ड्रग्स पेडलर्स नहीं है, ना ही रैकेटियर्स हैं और ना ही ट्रैफिकर्स हैं। हालांकि, इस दलील के बाद भी कोर्ट ने कल अर्जी पर कोई फैसला नहीं सुनाया था, अब आज देखना होगा कि कोर्ट आर्यन ख़ान को ज़मानत देगा या उन्हें अभी कुछ दिन और जेल में रहना पड़ेगा।

आपको बता दें कि आर्यन को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने 2 अक्टूबर को मुंबई से गोवा जा रहे एक क्रूज से रेव पार्टी करते हुए हिरासत में लिया था। इसके बाद 3 अक्टूबर को उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया था। आर्यन के साथ उनके दो और साथी अरबाज़ मर्चेंट और मुनमुन धमेचा भी आर्थर रोड जेल में बंद हैं। आर्यन के केस में अब तक कई बार ज़मानत अर्जी दायर की जा चुकी है, लेकिन हर बार उनकी अर्जी खारिज हो जाती है।

7 अक्टूबर को मजिस्ट्रेट कोर्ट ने आर्यन की जमानत अर्जी खारिज करते हुए 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। 11 अक्टूबर को आर्यन की जमानत के लिए विशेष एनडीपीएस कोर्ट में अर्जी दाखिल की गयी थी, जिस पर एनसीबी ने जवाब देने के लिए कोर्ट से समय मांगा था। इसके बाद 13 अक्टूबर को इस केस में फिर सुनवाई हुई जिसे 14 अक्टूबर तक के लिए टाल दिया गया।

Edited By: Nazneen Ahmed