मुंबई। जाने माने फिल्मकार अनुराग कश्यप, मुंबई एकेडमी ऑफ मूविंग इमेज (मामी) फिल्म फेस्टिवल के बोर्ड मेंबर पद से हट गए हैं। उन पर यौन उत्पीड़न में फंसे विकास बहल को बचाने का आरोप लगा है और इस कारण उन्होंने कहा है कि वो इस मामले में क्लीन चिट पाने के बाद भी मामी में वापस आयेंगे।

बॉलीवुड सहित देश भर में महिलाओं के साथ होने वाले गलत बर्ताव को लेकर लगातार हो रहे खुलासों ने एक तरफ़ हडकंप मचा दिया है तो दूसरी ओर एक के बाद एक कड़े फैसले सामने आ रहे हैं। मामी ने अभी कल ही रजत कपूर की कड़क और ए आई बी की चिंटू का बर्थडे को इस बार के फेस्टिवल से हटा दिया है। अनुराग, तब से मामी के बोर्ड में हैं जब से इसकी स्थापना हुई थी। अनुराग ने ट्वीटर पर मामी से हटने के बारे में जानकारी दी है।

अनुराग ने कहा है कि अपने ऊपर लगे आरोपों के ख़िलाफ़ संघर्ष करेंगे। जिस पर आरोप लगाया गया है वो काफ़ी पहले की बात है लेकिन लोग विस्तृत ख़बर नहीं सिर्फ हेडलाइन पढ़ना चाहते हैं। यह आत्मावलोकन का समय है। अनुराग कश्यप ने अपनी कंपनी फैंटम फिल्म के साझीदार विकास बहल पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों पर पीड़िता से माफी मांगी है। साथ ही स्वीकार किया है कि पीड़ित महिला कर्मचारी उनके पास शिकायत लेकर आई थी लेकिन उस समय उन्हें वकील ने गलत सलाह दी थी।

रविवार को स्थिति की गंभीरता देखते हुए अनुराग कश्यप ने ट्विटर पर दो पन्ने का बयान जारी कर कहा कि तब उनके वकील ने उन्हें सलाह दी थी कि वह सात साल पहले बनी कंपनी फैंटम फिल्म से विकास बहल को निकाल नहीं सकते हैं।

उन्होंने कहा कि फैंटम फिल्मस में कानूनी और वित्तीय निर्णयों के लिए मैं पूरी तरह से अपने साझीदार और उसकी टीम पर निर्भर था। प्रतिष्ठित फिल्ममेकिंग प्रोडक्शन कंपनी फैंटम अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवाने, विकास बहल और मधु मंटेना साथ मिलकर चलाते थे। इस प्रोडक्शन कंपनी ने कई बड़ी सुपरहिट फिल्में दी हैं। लेकिन अब इनको साथ काम करते नहीं देखा जा सकेगा। कुछ दिन पहले फैंटम प्रोडक्शन कंपनी के ये सभी कर्ता-धर्ता ने अपने-अपने रास्तों पर अलग चलने का फैसला लिया था।

यह भी पढ़ें: मी टू के सपोर्ट में मामी फिल्मोत्सव, रजत कपूर और एआईबी की फिल्में हटाई गईं

Posted By: Manoj Khadilkar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस