अनुप्रिया वर्मा, मुंबई. अनुपम खेर की फिल्म द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर जल्द ही रिलीज होने वाली है लेकिन फिल्म लगातार सुर्ख़ियों में हैं. अनुपम ने अपनी बातचीत के दौरान कहा है कि इस फिल्म को पहले मैंने करने से मना किया था.

वह कहते हैं कि किताब को लेकर पहले से ही विवाद हो रहे थे. फिर ऐसे में वो बेवजह के विवाद में फंसना नहीं चाहते थे. ऐसे में अनुपम को लगता है कि वह जब भी कुछ कहते हैं तो विवाद हो ही जाता है. लेकिन एक दिन न्यूज देखते हुए जब अनुपम ने मनमोहन सिंह को देखा तो उन्होंने उनके चलने के ढंग पर गौर किया और फिर चलने की कोशिश करने लगे. तमाम कोशिशों के बाद भी जब वह यह नहीं कर पाए तो उन्हें लगा कि एक्टर के तौर पर यह किरदार उन्हें चैलेंज करेगा, इसलिए अनुपम ने तय किया कि वह यह फिल्म करेंगे.

अनुपम का कहना है कि मनमोहन सिंह का किरदार निभाते हुए उन्हें सबसे बड़ी चुनौती यह लगी कि अनुपम मानते हैं कि उनका पर्सोना कमाल का है. वह खुद को एक्सप्रेस नहीं करते. उनको दुःख है तो वह चेहरे का भाव भी वही रहता है. ख़ुशी में भी वही रहता है और हैरानी में भी.

अनुपम कहते हैं कि उनकी खिलखिलाती हुई हंसी उन्होंने कभी नहीं देखी. ऐसे में यही उनके लिए चुनौती रही. अनुपम ने आगे कहा है कि उन्होंने तीन चार महीने रिहर्सल की है. 100 घंटे का उनका फुटेज देखा. खासतौर से आवाज के मैनेरिज्म को पकड़ना कठिन था. चूंकि अनुपम नहीं चाहते थे कि यह सिर्फ कैरिकेचर के रूप में नजर आये.

अनुपम ने आगे कहा कि इंग्लैण्ड में इस फिल्म शूटिंग की. एक गांव जहां बहुत शांति थी, सिर्फ एक बड़ा सा घर था और दूर-दूर तक सिवाय भेड़ों के और कुछ नहीं था. वहां जाकर अनुपम ने प्रैक्टिस किया. साथ ही उन्होंने बोल रखा था कि उन्हें सेट पर सभी प्रधानमंत्री कह कर ही बुलाएं, ताकि वह किरदार में पूरी तरह घुस सकें. ये फिल्म 11 जनवरी को रिलीज़ होगी.

यह भी पढ़ें: Box Office: सिंबा की बुधवार को इतनी कमाई, अब रणवीर की फिल्म पर ख़तरा

Posted By: Manoj Khadilkar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप